Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देशभर में बिजली संकट गहराया- पंजाब, केरल समेत महाराष्ट्र में 20 से ज्यादा थर्मल पावर स्टेशन बंद, जानें कितने दिन का बचा कोयला

बिजली मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, बिजली की खपत लगभग दो प्रतिशत या 7.2 करोड़ यूनिट घटकर 382.8 करोड़ यूनिट हो गई, जो शुक्रवार को 390 करोड़ यूनिट थी। इसके चलते कोयले की कमी के बीच देशभर में बिजली की आपूर्ति में सुधार हुआ।

देशभर में बिजली संकट गहराया- पंजाब, केरल समेत महाराष्ट्र में 20 से ज्यादा थर्मल पावर स्टेशन बंद, जानें कितने दिन का बचा कोयला
X

बिजली संकट 

देश में कोयले की कमी (Lack Of Coal) से बिजली का संकट (Power Crisis) गहराता जा रहा है। बिजली के लिए केवल चार दिनों का कोयला बचा है। ऐसे में इसका असर कई राज्यों पर दिखने लगा है। पंजाब, केरल और महाराष्ट्र में 20 से ज्यादा थर्मल पावर स्टेशन (Thermal Power Station) बंद हो चुके हैं। सभी कोयले की कमी के कारण बंद हुए हैं। संभावित बिजली संकट के डर से, कर्नाटक और पंजाब के मुख्यमंत्रियों (Chief Ministers of Karnataka and Punjab) ने केंद्र से अपने राज्यों में कोयले की आपूर्ति बढ़ाने का अनुरोध किया है। महाराष्ट्र के ऊर्जा विभाग ने नागरिकों से बिजली बचाने का आग्रह किया है। उधर, केरल सरकार ने भी चेतावनी दी है कि उन्हें लोड-शेडिंग का सहारा लेना पड़ सकता है।

इसके अलावा राष्ट्रीय राजधानी के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री मोदी से हस्तक्षेप करने का आग्रह किया ताकि कोयले और गैस को बिजली की आपूर्ति करने वाले प्लांटों को पर्याप्त कोयले की आपूर्ति की जाए। बिजली मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, बिजली की खपत लगभग दो प्रतिशत या 7.2 करोड़ यूनिट घटकर 382.8 करोड़ यूनिट हो गई, जो शुक्रवार को 390 करोड़ यूनिट थी। इसके चलते कोयले की कमी के बीच देशभर में बिजली की आपूर्ति में सुधार हुआ।

इस संबंध में केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने बीत दिन कहा था कि दिल्ली में बिजली की कोई कमी नहीं है। उन्होंने आश्वासन दिया कि आगे भी कोयले की आपूर्ति बनी रहेगी। आर के सिंह ने कहा कि देश प्रतिदिन कोयले की औसत आवश्यकता से चार दिन आगे है और इस मुद्दे पर एक अनावश्यक दहशत पैदा की जा रही है। राज्य निश्चित रूप से घबराते दिख रहे हैं। केंद्र का मानना ​​है कि चिंता करने की जरूरत नहीं है। लेकिन कोयला मंत्रालय ने कहा कि देश में पर्याप्त कोयले का भंडार है और कम इन्वेंट्री का मतलब यह नहीं है कि बिजली उत्पादन बंद हो जाएगा क्योंकि स्टॉक की लगातार भरपाई की जा रही है।

Next Story