Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया रात 12 बजे से 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान, कहा ऐसा नहीं किया तो देश बर्बाद हो जाएगा

Coronavirus : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को आठ बजे संबोधित किया है। कोरोना वायरस महामारी के चलते 21 दिनों तक देश में लॉकडाउन का ऐलान किया गया है। पढ़िए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पूरा भाषण।

Coronavirus : प्रधानमंत्री ने की फार्मेसी कंपनियों से बात, पीएम मोदी को मिला भरोसाप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल)

Coronavirus : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रात 12 बजे से पूरे देश में लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ऐसा नहीं किया तो पूरा देश बर्बाद हो जाएगा। लोगों से हाथ जोड़कर घरों में रहने की अपील करता हूं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार रात आठ बजे राष्ट्र को संबोधित किया। कोरोना वायरस महामारी को लेकर पांच दिन में दूसरी बार देश को संबोधित किया। इस दौरान बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि आज रात 12 बजे से 21 दिनों तक लॉकडाउन का ऐलान करता हूं। यानि की 15 अप्रैल तक देश लॉकडाउन रहेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इसे कर्फ्यू की तरह समझा जाए और जनता कर्फ्यू से सख्त माना जाए। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आपका घर से बाहर रखा गया एक कदम घर में गंभीर बीमारी ला सकता है। ये बातें मैं प्रधानमंत्री होने के नाते नहीं एक सामान्य व्यक्ति की तरह कह रहा हूं।

सोशल डिस्टेंसिंग एकमात्र उपाय है

विश्व के तमाम देश सोशल डिस्टेंसिंग को अपना रहे हैं। ऐसे में कोरोना से बचने के लिए केवल एकमात्र उपाय है सोशल डिस्टेंसिंग। इसके जरिए हम कोरोना वायरस की चेन को तोड़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि यही वजह है कि चीन, अमेरिका जैसे अनेक देशों में कोरोना वायरस ने फैलना शुरू किया तो हालात बेकाबू हो गए। इटली हो या अमेरिका, इनकी स्वास्थ्य सेवाएं अत्याधुनिक हैं। इसके बावजूद ये देश कोरोना का प्रभाव कम नहीं कर पाए हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कुछ लोग सोच रहे हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग सिर्फ बीमार लोगों के लिए है। लेकिन ऐसा नहीं है। परिवार के हर सदस्य के लिए सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है। कुछ लोगों की गलत सोच आपके परिवार और दोस्तों को मुश्किल में झोंक देगी। यदि ऐसी लापरवाही जारी रही तो भारत को बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है। यह कीमत कितनी बड़ी होगी इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले दो दिनों में देश के राज्यों को लॉकडाउन कर दिया गया है। इसे गंभीरता से लेने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि आज रात 12 बजे से पूरे देश में लॉकडाउन होने जा रहा है।

बीमारी से निपटने के उपाय सिर्फ अनुभव हैं

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस स्थिति में निपटने के लिए उपाय सिर्फ उन देशों के अनुभव हैं। हफ्तों तक इन देशों के नागरिक घरों से बाहर नहीं निकले हैं। इन देशों ने शत प्रतिशत निर्देशों का पालन किया। ऐसे में वो देश महामारी से उबरने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। ऐसे में हमारे पास सिर्फ एक उपाय है कि हमें घर से बाहर नहीं निकलना है, चाहे कुछ भी हो जाए। प्रधानमंत्री से लेकर किसान तक हर किसी को घर की लक्ष्मण रेखा नहीं लांघनी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत उस चरण में है जो तय करेगा कि कोरोना वायरस के प्रभाव को हम कितना कम कर सकते हैं।

अनुशासन का पालन करना होगा

प्रधानमंत्री ने कहा कि जान है तो जहान है। यह धैर्य और अनुशासन की समय है। जब तक लॉकडाउन है तब तक हमें अनुशासन का पालन करना है। घरों में रहते हुए उन लोगों के लिए मनोकामना करिए जो खुद को खतरे में डालकर काम कर रहे हैं। डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, पैथोलॉजी जो कि इस महामारी से एक-एक जीवन को बचान के लिए अस्पतालों में काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन मीडिया कर्मियों के बारे में सोचिए जो सही सूचना देने के लिए कार्य कर रहे हैं।

जनता कर्फ्यू की सफलता के लिए प्रशंसा के पात्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि जनता कर्फ्यू को सफल बनाया गया है। इसके जरिए देश ने बताया कि जब संकट आता है तो एकजुट होकर सभी देशवासी मुकाबला करते हैं। आप सभी जनता कर्फ्यू की सफलता के लिए प्रशंसा के पात्र हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जनता कर्फ्यू की तरह मुझे भरोसा है कि जनता निर्देशों का पालन करेगी। राज्य सरकारों के निर्देशों को मानेगी। 21 दिन का लॉकडाउन बड़ा है। लेकिन जीवन के लिए यह महत्वपूर्ण है। हर हिंदुस्तानी संकट की घड़ी का सामना करेगा। आप खुद का और अपनों का ख्याल रखिए। कानून नियमों का पालन करिए।

आवश्वक वस्तुओं की आपूर्ति के किए गए इंतजाम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के इंतजाम किए गए हैं। किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए मुश्किल वक्त है। इस वैश्विक महामारी से बचने के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं को अपग्रेड करने का काम कर रही है। डब्ल्यूएचओ, अनुसंधान केंद्र और विशेषज्ञों के सुझावों पर सरकार फैसले कर रही है। कोरोना वायरस के मरीजों के लिए 15 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। इससे वेंटिलेटर, आईसोलेशन सुविधाएं तेजी से बढ़ायी जाएंगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि राज्य सरकारों से अनुरोध किया है कि पहली प्राथमिकता सिर्फ स्वास्थ्य सुविधाएं ही होनी चाहिए। मुझे संतोष है कि देश का प्राइवेट सेक्टर पूरी तरह से कंधे से कंधा मिलाकर देशवासियों के साथ खड़ा है। प्राइवेट लैब और अस्पताल सरकार के साथ मिलकर काम करने के लिए आगे आ रहे हैं। ऐसे समय में जाने अनजाने कई बार अफवाहें भी जोर पकड़ती है। मेरा निवेदन है कि अफवाहों से बचें।

छह साल में छठवीं बार करेंगे संबोधित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र को छठवीं बार संबोधित करेंगे। इससे पहले मोदी राष्ट्र को पांच बार संबोधित कर चुके हैं। जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को पहली बार संबोधित करते वक्त नोटबंदी का एलान किया था। इसके बाद बड़े मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया है।

Next Story
Top