Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ईस्ट इंडिया कंपनी ने की थी कोलकाता बंदरगाह की शुरुआत, नरेंद्र मोदी कल 150वी वर्षगांठ पर होंगे शामिल

नरेंद्र मोदी रविवार को कोलकाता बंदरगाह की 150वी वर्षगांठ के अवसर पर होने वाले प्रोग्राम में शामिल होंगे। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ममता बनर्जी से भी मिले।

ईस्ट इंडिया कंपनी ने की थी कोलकाता बंदरगाह की शुरुआत, नरेंद्र मोदी कल 150वी वर्षगांठ पर होंगे शामिलनरेंद्र मोदी

कोलकाता बंदरगाह (Port Of Kolkata) की 150वी साल पूरे होने के अवसर पर रविवार को होने वाले प्रोग्राम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल होंगे। नरेंद्र मोदी इसके लिए कोलकाता पहुंच चुके हैं। नरेंद्र मोदी आज पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से भी मिले थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ओल्ड करेंसी बिल्डिंग के स्टेचू का भी अनावरण किया।

कोलकाता बंदरगाह 150वी जयंती

कोलकाता बंदरगाह की स्थापना ईस्ट इंडिया कंपनी ने सन 1870 में की थी। मुगल सम्राट औरंगजेब से ट्रेडिंग राइट्स लेने के बाद ईस्ट इंडिया कंपनी ने इस बंदरगाह की स्थापना की। ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा इस बंदरगाह को बनाने का उद्देश्य भारत में व्यापार को सुगम बनाना था।

यह भारत का प्राचीन बंदरगाह है। कोलकाता बंदरगाह समुद्र से लगभग 200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। कोलकाता बंदरगाह में दो अलग अलग डॉक सिस्टम है। कोलकाता में कोलकाता डॉक्स और और हल्दिया डॉक काम्प्लेक्स में डीप वाटर डॉक।

दूसरे विश्व युद्ध में इस बंदरगाह का रोल महत्वपूर्ण था। इस पर जापानी सेना द्वारा 2 बार बमबारी की गई थी। आजादी के बाद 1975 तक कमिशन ऑफ पोर्ट कोलकाता पर इसकी जिम्मेदारी थी। अब सरकार द्वारा बनाई गई ट्रस्ट के अंतर्गत आती है।

Next Story
Top