Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

PM Modi UN First Speech: पहली बार 2014 में यूएन महासभा को पीएम मोदी ने किया था संबोधित, रखे थे ये मुद्दे

PM Modi UN First Speech/अमेरिका के न्यू यॉर्क (New York) शहर में चल रहे संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के 74वें सत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) भाग लेंगे। मोदी को सबसे पहले साल 2014 में पीएम बनने के बाद यूएन महासभा (UN) जाने का मौका मिला था। यूएन ने पीएम मोदी ने विश्व नेताओं के सामने कई मुद्दे रखे थे।

पहली बार 2014 में यूएन महासभा को पीएम मोदी ने किया था संबोधित, रखे थे ये मुद्देPM Modi UN First Speech in 2014 terror and yoga

अमेरिका (America) के न्यू यॉर्क (New York) शहर में चल रहे संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के 74वें सत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) भाग लेंगे। शाम साढ़े 7 बजे महासभा से दुनिया को संबोधित करेंगे। इस बार पीएम मोदी अपने भाषण में कश्मीर (Kashmir), पीओके (POK) और आतंकवाद (Terrorist) के खिलाफ संदेश देंगे।

पीएम मोदी ने सबसे पहले साल 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद सितंबर महीने में ही संयुक्त राष्ट्र महासभा के 69वें सत्र को संबोधित किया था। जबकि पाकिस्तान के इमरान खान पहली बार यूएम महासभा को संबोधित करेंगे।


पीएम मोदी ने पहले भाषण में रखा था आतंकवाद और योग का मुद्दा

साल 2014 में चुनाव जीतने के बाद पीएम मोदी ने महासभा में विश्व नेताओं के बीच अपना पहला भाषण दिया था। पीएम मोदी ने अपने देश को चरमपंथी समूहों के खिलाफ दुनिया को याद दिलाई थी। यानी आतंकवाद का मुद्दा उन्होंने उठाया था। भारत के साथ लंबे समय से चल रहे विवाद पर संकेत दिया कि उसके पड़ोसी देश पाकिस्तान उन समूहों का समर्थन करते हैं जिन्होंने भारतीय जमीन पर आतंकवादी हमले किए हैं।

बीस साल पहले विश्व के नेता इसे कानून और व्यवस्था की समस्या कहते थे। उन्होंने कहा था कि केवल भारत के सरोकारों को समझने के लिए ही वे आए थे। कुछ देश अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादियों को शरण दे रहे हैं। वे आतंकवाद को अपनी नीति का एक उपकरण मानते हैं। जिसके बाद उन्होंने आतंकवाद को दुनिया में एक बड़ा घातक मुद्दा बताया था। जिसके बाद आतंकवाद से लड़ने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका ने उनका समर्थन किया था। संयुक्त राष्ट्र में पहुंचने से पहले ही उन्होंने राष्ट्रीय स्मारक और संग्रहालय का दौरा किया था।

यूएन महासचिव के साथ की थी पहली बार मुलाकात

पीएम मोदी ने अपने पहले दौरे के दौरान पूर्व यूएन महासचिव बान की मून के साथ अपनी बैठक की थी। उन्होंने कला के कई कार्यों को देखने के लिए संयुक्त राष्ट्र परिसर का दौरा किया। जिसमें 11 वीं शताब्दी की एक पत्थर की मूर्ति शामिल थी। जिसे भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 1982 में भेट की थी। ये वहीं मोदी थे, जिसने उन्हें 2002 में गुजरात राज्य में हिंसा के बाद से संयुक्त राज्य अमेरिका में आने से रोक दिया था।

योग के बारे में दुनिया को बताया

लेकिन इसी दौरान पीएम मोदी ने योग को पूरी दुनिया में एक पहचान दी और कहा कि दुनिया को विश्व योग दिवस मनाना चाहिए। यह सिर्फ व्यायाम नहीं है। उन्होंने कहा था कि हमारी जीवन शैली को बदलने में अहम भूमिका रही है। यह हमें जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद कर सकता है। आइए हम अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को अपनाने की दिशा में काम करें।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top