Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

G-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने रोम पहुंचे पीएम मोदी, 12 साल में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली यात्रा

इटली में भारतीय राजदूत नीना मल्होत्रा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रोम यात्रा पद संभालने के बाद इटली की राजधानी की उनकी पहली यात्रा है।

G-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने रोम पहुंचे पीएम मोदी, 12 साल में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली यात्रा
X

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) जी20 शिखर सम्मेलन (G20 summit) शामिल होने के लिए रोम पहुंचे। जोकि लगभग 12 वर्षों में किसी भारतीय प्रधानमंत्री (Indian Prime Minister) की पहली यात्रा है। मीडिया में आईं खबरों के मुताबिक, पीएम मोदी (Pm Modi) शुक्रवार को करीब 9.30 (IST) रोम (Rome) पहुंच गए। इटली में भारतीय राजदूत नीना मल्होत्रा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रोम यात्रा पद संभालने के बाद इटली की राजधानी की उनकी पहली यात्रा होगी।

यह लगभग 12 वर्षों में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली रोम यात्रा भी है। रोम पहुंचने के कुछ घंटों बाद पीएम मोदी दोपहर बाद लगभग 3.30 बजे (IST) गांधी प्रतिमा का दौरा करेंगे और बाद में शाम 5.30 बजे (IST) इतालवी प्रधान मंत्री मारियो ड्रैगी के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे। जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए अपनी इटली यात्रा से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि रोम में वह महामारी से वैश्विक आर्थिक और स्वास्थ्य सुधार पर चर्चा करेंगे। पीएम मोदी 29 से 31 अक्टूबर तक रोम और वेटिकन सिटी का दौरा करेंगे और बाद में यूके की यात्रा करेंगे।

पीएम मोदी ने यह भी कहा कि रोम में मैं 16वें जी-20 लीडर्स समिट में भाग लूंगा। जहां मैं जी-20 के अन्य नेताओं के साथ वैश्विक आर्थिक और महामारी से स्वास्थ्य सुधार, सतत विकास और जलवायु परिवर्तन पर चर्चा में शामिल होऊंगा। पीएम मोदी ने शुक्रवार की सुबह अपनी यात्रा की शुरुआत पीएमओ के साथ इटली के लिए एक विमान में सवार होने की एक तस्वीर को ट्वीट करने के साथ की।

रोम की यात्रा पर रवाना होने से पहले पीएम ने अपने बयान में कहा कि बैठक जी-20 को वर्तमान वैश्विक स्थिति का जायजा लेने और विचारों का आदान-प्रदान करने की अनुमति देगी कि कैसे समूह आर्थिक लचीलापन को मजबूत करने और कोरोना महामारी से समावेशी और स्थायी रूप से वापस निर्माण के लिए एक इंजन हो सकता है। खबरों से मिली जानकारी के मुताबिक, पीएम मोदी यूके के ग्लासगो में कार्बन स्पेस के समान वितरण समेत जलवायु परिवर्तन के मुद्दों को व्यापक रूप से संबोधित करने की जरूरत पर बात करेंगे।

Next Story