Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पीएम मोदी और शी जिनपिंग के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई, ये हैं बातचीत के 5 खास बिंदू

तमिलनाडु में कोवलम के कोव होटल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच पहले सिंग्ल बातचीत हुई, जो 30 मिनट तक चली। इसके बाद दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई। जिसमें कई मुद्दों पर चर्चा की।

पीएम मोदी और शी चिनफिंग के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई, ये हैं बातचीत के 5 खास बिंदूPM Modi and Xi Jinping delegation talks 5 point

तमिलनाडु में कोवलम के कोव होटल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच पहले सिंग्ल बातचीत हुई, जो 30 मिनट तक चली। इसके बाद दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई। जिसमें भारत और चीन दोनों देशों के उच्च अधिकारी मौजूद रहे। इस बैठक में दोनों देशों के प्रमुख नेताओं ने संबंधों को बेहतर करने के लिए कई मुद्दों पर करार किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ दूसरे अनौपचारिक मुलाकात के दिन मामल्लूपुरम में टैंगो हॉल में चल रहे प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता में भारत लिया। प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के दौरान मोदी-शी के इन पांच बिंदूओं पर सबकी नजर गई...

ये हैं दोनों की बातचीत के 5 खास बिंदू

1. पीएम मोदी ने प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के दौरान कहा कि चेन्नई भारत और चीन के बीच ऐतिहासिक संबंध है। दोनों देश 2000 सालों से आर्थिक शक्तियां रह चुके हैं। इन संबंधों के बाद दोनों के बीच एक नया अध्याय शुरू होगा।

2. बैठक के दौरान चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि इस तरह के अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के लिए सही निर्णय लिया गया। भारत के स्वागत से अभिभूत हूं। यह हमारे लिए यादगार यात्रा होगी। यह हमारे लिए दूरगामी प्रभाव होगा।

3. प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के दौरान शी ने कहा कि कल जो मीटिंग हुई उसमें आप और मैं दोस्तों की तरह खुलकर बातचीत में व्यस्त थे, द्विपक्षीय संबंधों पर दिल से चर्चा।

4. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि पीएम मोदी ने वुहान और चेन्नई में अनौपचारिक शिखर सम्मेलन को स्वीकार किया। यह एक अच्छा विचार था। हम दोनों देशों के बीच घनिष्ठ सहयोग को आगे लाने में सक्षम हैं।

5. पीएम मोदी ने बैठक के दौरान कहा कि दोनों राष्ट्रों के बीच सामरिक संचार में वृद्धि हुई और हम किसी भी विवाद को आगे नहीं बढ़ने देंगे और वैश्विक बातचीत को बढ़ाएंगे। चेन्नई ने एक नए युग को जोड़ा है।

Next Story
Share it
Top