Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पीएम मोदी ने IIT गुवाहाटी के दीक्षांत समारोह को किया संबोधित, बोले- नई शिक्षा नीति एजुकेशन को टेक्नोलॉजी से जोड़ेगी

पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) गुवाहाटी के 22वें दीक्षांत समारोह को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया।

पीएम मोदी ने IIT गुवाहाटी के दीक्षांत समारोह को किया संबोधित, बोले- नई शिक्षा नीति एजुकेशन को टेक्नोलॉजी से जोड़ेगी
X
पीएम मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) गुवाहाटी के 22वें दीक्षांत समारोह को संबोधित किया। ये समारोह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया गया। समारोह में पीएम मोदी ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति एजुकेशन को टेक्नोलॉजी से जोड़ने की बात रही है।

संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि नई शिक्षा नीति बहु-अनुशासनात्मक शिक्षा का परिचय देती है और चुने हुए विषयों पर कई विकल्पों को प्रदान करती है। नई नीति छात्रों को तकनीक से जोड़ेगी, जिसका मतलब है कि छात्र प्रौद्योगिकी के माध्यम से प्रौद्योगिकी के बारे में जानेंगे। नई नीति के जरिए भारत को वैश्विक शिक्षा गंतव्य के रूप में स्थापित किया जाएगा। नीति ने कृत्रिम शिक्षा शुरू करने और ऑनलाइन सीखने के उपयोग को बढ़ाने का मार्ग खोला है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि आत्मनिर्भर भारत के लिए शिक्षा का कितना महत्व है, ये आप भली भांति जानते हैं। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 21वीं सदी के आप जैसे युवाओं के लिए ही है। वो युवा जो दुनिया को लीड करेगा और साइंस व तकनीक में भारत को ग्लोबल लीडर बनाएगा। आज इस कॉन्वोकेशन के बाद कई छात्र यहां रहेंगे और कई यहां से चले जाएंगे। आज के इस विशेष दिन में आपसे आग्रह करूंगा कि आपकी लाइफ में इस रीजन का योगदान भी है। इस क्षेत्र की चुनौतियां और संभावना से आपकी रिसर्च कैसे जुड़ सकती है, ये आपने सोचना है।

संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि जैसे-जैसे आज अर्थव्यवस्था और समाज में आधुनिकता आ रही है। इंडियन साइंस एंड टेक्नोलॉजी लैंडस्केप को भी जरूरी बदलाव करने की जरूरत है। आईआईटी गुवाहटी ने ये प्रयास पहले से शुरु कर दिए हैं। संस्थान ने पहला ऐसा संस्थान है जिसने ई-मोबिलिटी पर दो साल का रिसर्च प्रोग्राम शुरु किया है।

आईआईटी के इस कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और शिक्षा राज्य मंत्री संजय धोत्रे सम्मानित अतिथि रहे। वहीं असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल भी शामिल हुए। साथ ही आईआईटी गुवाहाटी के निदेशक टीजी सीताराम समाारोह में शामिल हुए थे।

Next Story