Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Parliament Monsoon Session: लोकसभा-राज्यसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित, राहुल गांधी ने सांसदों के साथ किया प्रदर्शन

कांग्रेस सांसदों ने काले कानून वापस लो और प्रधानमंत्री न्याय करो के नारे लगाए। मुख्य विपक्षी पार्टी के सांसदो ने संसद भवन परिसर में यह धरना उस वक्त दिया जब मानसूत्र के दौरान केन्द्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठन जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करने की तैयारी में हैं।

Parliament Monsoon Session: संसद के पेगासस और किसानों के मुद्दे पर जोरदार हंगामा, दोनों सदनों में कार्यवाही स्थगित
X

संसद के पेगासस और किसानों के मुद्दे पर जोरदार हंगामा

Parliament Monsoon Session संसद में मानसून सत्र का आज तीसरा दिन है। लेकिन आज सुबह सदन की कार्यवाही जोरदार हंगामे के साथ शुरू हुई। सरकार के खिलाफ विपक्षी दल पेगासस और किसानों के मुद्दे को लेकर घेरने की कोशिश की और हंगामा करना शुरू कर दिया। जिसके बाद संसद के दोनों सदनों को कल तक के लिए स्थगित (Proceedings Adjourned In Both Houses) कर दिया गया है। इससे पहले भी सदन के दो दिन इन्हीं मुद्दों पर भेंट चढ़ गए थे। इस बीच, आज सुबह कांग्रेस के सांसदों समेत पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Ganghi) की अगुवाई में संसद भवन परिसर में प्रदर्शन किया।

संसद भवन के परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने खड़े होकर केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन में कांग्रेस के कई सांसदों ने हिस्सा लिया। जिसमें राहुल गांधी के अलावा लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, लोकसभा सदस्य मनीष तिवारी, गौरव गोगोई, रवनीत बिट्टू, राज्यसभा सदस्य प्रताप सिंह बाजवा और कई अन्य सांसद इस धरने में शामिल हुए। कांग्रेस सांसदों ने काले कानून वापस लो और प्रधानमंत्री न्याय करो के नारे लगाए। मुख्य विपक्षी पार्टी के सांसदो ने संसद भवन परिसर में यह धरना उस वक्त दिया जब मानसूत्र के दौरान केन्द्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठन जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करने की तैयारी में हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली से लगे टिकरी बॉर्डर, सिंघू बॉर्डर तथा गाजीपुर बॉर्डर पर किसान पिछले साल नवम्बर से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। उनकी मांग है कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लिया जाए और न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी दी जाए। हालांकि सरकार का कहना है कि ये कानून किसानों के हित में हैं। सरकार और प्रदर्शन कर रहे किसानों के बीच कई दौर की वार्ता बेनतीजा रही है।

Next Story