Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं, विपक्ष का फूटा गुस्सा, विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाने की तैयारी

प्रियंका गांधी ने ट्वीट करके कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से इसलिए मौतें हुईं क्योंकि सरकार ने ऑक्सीजन निर्यात 700 फीसदी तक बढ़ा दिया था। उन्होंने कहा कि सरकार ने ऑक्सीजन ट्रांसपोर्ट करने वाले टैंकरों की व्यवस्था नहीं की। इसके अलावा अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने में कोई सक्रियता भी नहीं दिखाई। इसके बाद शिवसेना के नेता सांसद संजय ने भी इस बात को लेकर सरकार पर सवाल खड़े किए हैं।

कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं, विपक्ष का फूटा गुस्सा, विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाने की तैयारी
X

कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं

देश में कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के बीच संसद का मानसून (Parliament Monsoon Session) सत्र चल रहा है। आज इस सत्र का तीसरा दिन है। वहीं केंद्र सरकार (Central Government) के एक बयान से विपक्षी दलों ने निशाना साधना शुरू कर दिया है। बीते दिन सरकार ने राज्यसभा (Rajya Sabha) में बताया था कि दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी से किसी की मौत की जानकारी राज्यों ने नहीं दी है। अब इस बात पर विपक्ष आग बबूला हो गया है। इस मुद्दे को लेकर सभी पार्टियों ने निंदा करते हुए सरकार पर हमला करना शुरू कर दिया है। वहीं अब संसद में आम आदमी पार्टी (AAP) विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश करने की तैयारी में है। जबकि, कांग्रेस (Congress) की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने भी इस मामले में सरकार पर निशाना साधा है।

प्रियंका गांधी ने ट्वीट करके कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से इसलिए मौतें हुईं क्योंकि सरकार ने ऑक्सीजन निर्यात 700 फीसदी तक बढ़ा दिया था। उन्होंने कहा कि सरकार ने ऑक्सीजन ट्रांसपोर्ट करने वाले टैंकरों की व्यवस्था नहीं की। इसके अलावा अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने में कोई सक्रियता भी नहीं दिखाई। इसके बाद शिवसेना के नेता सांसद संजय ने भी इस बात को लेकर सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र की इस बात को सुनकर उन पर क्या गुजरी होगी जिन्होंने अपनों को खोया है। सरकार के खिलाफ मुकदमा दर्ज होना चाहिए। सरकार झूठ बोल रही है।

उधर, आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि इस संकट काल में सरकार ने देश को अनाथ छोड़ दिया था। सरकार को पता ही नहीं था कि क्या हो रहा है। आप इस मुद्दे पर संसद में विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश करेगी। वहीं, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि सरकार का जवाब बिलकुल असत्य है। दिल्ली समेत देश भर में ऑक्सीजन की कमी के कारण कई लोगों की मौत हुई, यह कहना बिल्कुल गलत है कि ऑक्सीजन संकट के कारण किसी की मौत नहीं हुई। आपको बता दें कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल ने राज्यसभा में ऑक्सीजन की कमी से होने वाली मौतों को लेकर सवाल किया था। वहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दी गई इस जानकारी को लेकर कांग्रेस भी विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाने की तैयारी में है। कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल ने कहा था कि वो स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाएंगे।

Next Story