Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पाक की इमरान सरकार ने साबित किया बहुमत, 178 वोट हासिल कर बने रहेंगे सत्ता में

पाकिस्तान की इमरान सरकार को बहुमत साबित करने के लिए 172 वोट की जरूरत थी। आज विपक्ष ने असेंबली का बायकॉट करते हुए जमकर ववाल काटा। आरोप है कि इमरान खान के समर्थकों ने मुस्लिम लीग की मरियम औरंगजेब से हाथापाई की और उन पर जूते भी फेंके गए।

पाक की इमरान सरकार ने साबित किया बहुमत, 178 वोट हासिल कर बने रहेंगे सत्ता में
X

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान। 

पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में इमरान सरकार ने 178 वोट हासिल कर फ्लोर टेस्ट पास कर लिया है। पाक सरकार को बहुमत साबित करने के लिए 172 वोटों की जरूरत थी। अगर इससे कम वोट मिलते तो इमरान सरकार गिर जाती। वोटिंग से पहले और बाद में पाक की नेशनल असेंबली के बाहर जमकर हंगामा हुआ। आरोप है कि इमरान खान के समर्थकों ने मुस्लिम लीग की मरियम औरंगजेब से हाथापाई की।

विपक्ष ने फ्लोर टेस्ट का बायकॉट करते हुए जमकर बवाल काटा। विपक्षी दलों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) का कहना था कि सीनेट के चुनाव में इसलामाबाद सीट पर मिली जीत इमरान ख़ान के ख़िलाफ़ अविश्वास का सबूत है। ऐसे में यह सरकार सत्ता में रहने के लायक नहीं है। विपक्ष ने शुक्रवार को ही चेतावनी दे दी थी कि वह नेशनल असेंबली सेशन में हिस्सा नहीं लेंगे। आज असेंबली के चेयरमैन ने विपक्ष के सदस्यों को वोटिंग शुरू होने से पहले असेंबली में आने के लिए पांच मिनट का समय दिया, लेकिन विपक्ष के सदस्य बायकॉट के अपने फैसले पर अड़े रहे। तय समय के बाद भी जब विपक्ष के सदस्य नहीं आए तो असेंबली के सारे दरवाजे बंद करके वोटिंग शुरू करा दी गई।

वोटिंग के बाद जब नतीजा सामने आया तो इमरान सरकार के लिए राहत भरा रहा। इमरान सरकार ने 178 वोट हासिल कर फ्लोर टेस्ट पास कर लिया। जीत के बाद पीटीआई के सांसदों ने इमरान सरकार की तारिफ की। बता दें कि इमरान की पार्टी तहरीक़-ए-इंसाफ़ (पीटीआई) के पास 157 सांसद हैं। इमरान सरकार को सहयोगी दलों का भी समर्थन हासिल है।

वहीं मुख्य विपक्षी दल पाकिस्तान मुसलिम लीग (नवाज़) की बात करें तो उनके पास 83 और पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) के पास केवल 55 सांसद हैं। एक दिन पहले यानी शुक्रवार को इमरान खान ने व्हिप जारी करते हुए पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के सभी सदस्यों को बहुमत परीक्षण के दौरान असेंबली में मौजूद रहने के निर्देश दिए थे।

इसलिए पड़ी फ्लोर टेस्ट की जरूरत

हाल में हुए सीनेट चुनाव में विपक्षी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के उम्मीदवार पूर्व प्रधान मंत्री सैयद यूसुफ रजा गिलानी ने पाकिस्तान के वित्त मंत्री अब्दुल हफीज शेख को हरा दिया। इमरान की पार्टी और उसके सहयोगी नेशनल असेंबली में बहुमत में हैं। चूंकि उनके कुछ सदस्यों ने यूसुफ रजा गिलानी के पक्ष में वोट किया, लिहाजा पाकिस्तान सरकार पर अविश्वास प्रस्ताव का दबाव बन गया। पाक के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सरकार के समर्थन में विश्वास प्रस्ताव पेश किया, जिस पर आज हुए फ्लोर टेस्ट में इमरान सरकार ने 178 वोट हासिल कर बहुमत साबित कर दिया।

Next Story