Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

NSA-Level Meeting: अफगानिस्तान के हालात पर बैठक में रूस-ईरान ने दिया बड़ा बयान

हम सब अफ़ग़ानिस्तान में हो रही घटनाओं को गौर से देख रहे हैं। इसके अफ़ग़ानिस्तान के लोगों के लिए ही नहीं बल्कि उसके पड़ोसी देशों और क्षेत्र के लिए भी इसके महत्वपूर्ण निहितार्थ हैं।

NSA-Level Meeting: अफगानिस्तान के हालात पर बैठक में रूस-ईरान ने दिया बड़ा बयान
X

दिल्ली में आज अफगानिस्तान (Afghanistan) के वर्तमान हालातों पर एक बेहद अहम अंतरराष्ट्रीय बैठक (important international meeting) चल रही है। इस बैठक की अध्यक्षता भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (National Security Adviso- एनएसए) अजीत डोभाल (Ajit Doval) कर रहे हैं। इस बैठक में रूस, ईरान (Russia, Iran) सहित कुल 7 देशों ने शिरकत की है। इस दौरान अजीत डोभाल ने कहा कि हम सब आज अफ़ग़ानिस्तान से संबंधित मुद्दों पर बात करने के लिए इकट्ठा हुए हैं।

हम सब अफ़ग़ानिस्तान में हो रही घटनाओं को गौर से देख रहे हैं। इसके अफ़ग़ानिस्तान के लोगों के लिए ही नहीं बल्कि उसके पड़ोसी देशों और क्षेत्र के लिए भी इसके महत्वपूर्ण निहितार्थ हैं। मुझे विश्वास है कि हमारे विचार-विमर्श प्रोडक्टिव व उपयोगी होंगे और अफ़ग़ानिस्तान के लोगों की मदद करने और हमारी सामूहिक सुरक्षा बढ़ाने में योगदान देंगे।

फगानिस्तान के हालात पर बैठक में रूस-ईरान ने दिया ये बयान

* ईरान की नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल के सेक्रेटरी रियर एडमिरल अली शामखानी ने कहा कि अफगानिस्तान में माइग्रेशन और शरणार्थियों का संकट बहुत है। समाधान एक समावेशी सरकार के गठन और सभी जातीय ग्रुपों की भागीदारी के साथ ही आ सकता है। इसका समाधान करने के लिए एक तंत्र के साथ आने की उम्मीद है।

* रूस की सिक्योरिटी काउंसिल के सेक्रेटरी निकोलाई पेत्रुशेव ने कहा कि बहुपक्षीय बैठकें अफगानिस्तान में विकास की स्थिति से जुड़े मुद्दों, चुनौतियों का मुकाबला करना, देश से उत्पन्न होने वाले खतरे और देश में लंबे समय तक चलने वाली शांति स्थापित करने में मदद करती हैं।

* कजाकिस्तान राष्ट्रीय सुरक्षा समिति के चेयरमैन करीम मासिमोव ने कहा कि हम अफगानिस्तान की मौजूदा स्थिति को लेकर चिंतित हैं। अफगानों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति बिगड़ रही है और देश मानवीय संकट का सामना कर रहा है। वहां मानवीय सहायता बढ़ाने के लिए आवश्यकता है।

* उज़्बेकिस्तान की सिक्योरिटी काउंसिल के सेक्रेटरी विक्टर मखमुदोव ने कहा कि अफगानिस्तान और इस क्षेत्र में पूरी तरह से शांति बहाल करने के लिए हमें एक सामूहिक समाधान ढूंढना होगा। यह संयुक्त कोशिशों से ही संभव है।

* तजाकिस्तान की सिक्योरिटी काउंसिल के सेक्रेटरी नसरुलो रहमतजोन महमूदज़ोदा ने कहा कि चूंकि अफगानिस्तान के साथ हमारी लंबा बॉर्डर है। वर्तमान स्थिति मादक पदार्थों की तस्करी, आतंकवाद के लिए अतिरिक्त जोखिम और संभावनाएं पैदा करती है।

तजाकिस्तान और अफगानिस्तान बॉडर्स पर स्थिति जटिल बनी हुई है। हम पड़ोसी देश के रूप में उन सभी कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के लिए तैयार हैं, जोकि अफगान के लोगों की सहायता कर सकते हैं।

* तुर्कमेनिस्तान सिक्योरिटी काउंसिल के सेक्रेटरी चार्मीरत अमानोवी ने कहा कि यह बैठक हमें अफगानिस्तान में मौजूदा स्थिति का समाधान निकालने और इस क्षेत्र में शांति स्थापित करने का अवसर प्रदान करती है।

* किर्गिज़स्तान की सिक्योरिटी काउंसिल के सेक्रेटरी मराट एम इमांकुलोवी ने कहा, हमारे क्षेत्र में और पूरे विश्व में यह बहुत कठिन स्थिति है। यह अफगानिस्तान में आतंकवादी संगठनों के संबंध में है। संयुक्त प्रयासों से अफगानिस्तान के लोगों तक मदद पहुंचाई जानी चाहिए।



और पढ़ें
Next Story