Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

RK Narayan Jayanti : दुनिया में मशहूर उपन्यासकार आर के नारायण अंग्रेजी विषय में हो गए थे फेल, जानें उनसे जुड़े किस्से

RK Narayan Jayanti : आर के नारायण (RK Narayan) अंग्रेजी साहित्य (English Literature) के भारतीय लेखकों में 3 सबसे महान् उपन्यासकारों में गिने जाते थे। बॉलीवुड के सुप्रसिद्ध अभिनेता देव आनंद ने आर के नारायण के उपन्यास 'गाइड' पर 'गाइड' के नाम से हिंदी और अंग्रेजी में फिल्म बनाई जो देश और विदेश में काफी चर्चित हुई थी।

Novelist RK Narayan Jayanti : दुनिया में मशहूर उपन्यासकार आर के नारायण अंग्रेजी विषय में हो गए थे फेल, जानें इनके बारे मेंNovelist RK Narayan Jayanti RK Narayan Biography

RK Narayan Jayanti : दुनियाभर में मशहूर उपन्यासकार आर के नारायण (Novelist RK Narayan) की 10 अक्टूबर को जयंती है। आर के नारायण (RK Narayan) की रचनाओं ने हिंदी भाषी लोगों को जितना प्रेरित किया है, उतना शायद ही किसी अंग्रेजी लेखक की रचनाओं ने किया होगा। आर के नारायण अंग्रेजी साहित्य के भारतीय लेखकों में 3 सबसे महान् उपन्यासकारों में गिने जाते थे। बॉलीवुड के सुप्रसिद्ध अभिनेता देव आनंद ने आर के नारायण के उपन्यास 'गाइड' पर 'गाइड' के नाम से हिंदी और अंग्रेजी में फिल्म बनाई जो देश और विदेश में काफी चर्चित हुई थी। लेकिन बहुत ही कम लोगों को मालूम है कि अंग्रेजी उपन्यास की दुनिया में मशहूर उपन्यासकार आर के नारायण अंग्रेजी विषय में ही फेल हो गए थे।

आर के नारायण जीवन परिचय

10 अक्टूबर 1906 को चेन्नई में जन्में आर के नारायण का पूरा नाम राशीपुरम कृष्णास्वामी अय्यर नारायणस्वामी था। बचपन के दिनों में आर के नारायण के परिवार के लोग उन्हें प्यार से कुंजप्पा कहकर बुलाता थे। बचपन के दिनों में आर के नारायण ज्यादातर अपनी नानी के घर रहे। बचपन से ही आर के नारायण को किताबें पढ़ने का बहुत शौक था। वह किताबों को पढ़ने के साथ-साथ लिखते भी थे।

आर के नारायण के पिता एक तमिल टीचर थे। आर के नारायण ने भी बहुत कम वक्त के लिए एक टीचर और पत्रकार के रूप में कार्य भी किया है, लेकिन उन्होंने इसके सिवा अपना सारा जीवन लेखन में ही लगाया। इसके लिए उन्होंने अपनी टीचर की नौकरी भी छोड़ दी थी। आर के नारायण की पहली उपन्यास लिखा था जिसका नाम 'स्वामी एंड फ्रेंड्स' था।

आर के नारायण ने इस उपन्यास में एक प्रसिद्द जगह जिक्र किया था, जिसे उन्होंने मालगुडी नाम दिया था। जोकि आगे इसी मालगुडी के नाम पर हिंन्दी टीवी जगत का प्रसिद्ध नाटक मालगु़डी डेज बन गया था। वह दक्षिण भारत के एक काल्पनिक शहर मालगुडी को आधार बनाकर अधिकतर रचनाएं लिखा करते थे। दुनियाभर में प्रसिद्ध आर के नारायण का 13 मई 2001 को चेन्नई में उनका निधन हो गया था। लेकिन अपनी रचनाओं में वे आज भी जीवित हैं।


उपन्यासकार आर के नारायण को इन पुरस्कारों से नवाजा गया

दुनियाभर में मशहूर उपन्यासकार आर के नारायण को साहित्य एकेडमी अवार्ड, पद्म भूषण, पद्म विभूषण और ए सी बेनसन मेडल समेत अनेक पुरस्कारों से नवाजा गया। आर के नारायण को वर्ष 1989 में राज्यसभा के लिए भी चयनित किये गए थे।

अंग्रेजी विषय में फेल हुए आर के नारायण

जानकारी के लिए आपको बता दें कि अंग्रेजी उपन्यास की दुनिया में आर के नारायण पूरी दुनिया में मशहूर थे। लेकिन बहुत कम लोगों को जानकारी है कि वर्ष 1925 में महान उपन्यासकार आर के नारायण ग्रेजुएशन की परीक्षा में अंग्रेजी विषय में फेल हो गए थे। बाद में वह अंग्रेजी की परीक्षा देकर अंग्रेजी विषय में पास हुए। आर के नारायण ने कॉलेज के दिनों से ही लिखना शुरू कर दिया था। उनका पहला उपन्यास 1935 में 'स्वामी एंड फ्रेंड्स' के नाम से था। 1935 में ही उनका 'फाइनेंशियल एक्सपर्ट' नामक हास्य उपन्यास प्रकाशित हुआ था।

Next Story
Share it
Top