Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दुनिया के चौथे सबसे बड़े एयरपोर्ट की लिस्ट में शामिल होगा 'जेवर एयरपोर्ट', इतने लाख लोगों को मिलेगा रोजगार, जानें और क्या हैं खासियतें

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उत्तर प्रदेश में दुनिया के चौथे सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे जेवर की आधारशिला रख दी है। गौतमबुद्धनगर (नोएडा) के जेवर में बनने जा रहा नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा योगी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजनाओं में से एक है।

दुनिया के चौथे सबसे बड़े एयरपोर्ट की लिस्ट में शामिल होगा जेवर एयरपोर्ट, इतने लाख लोगों को मिलेगा रोजगार, जानें और क्या हैं खासियतें
X

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने आज उत्तर प्रदेश में दुनिया के चौथे सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे जेवर की आधारशिला रख दी है। गौतमबुद्धनगर (नोएडा) के जेवर में बनने जा रहा नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा योगी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजनाओं में से एक है। लेकिन इससे क्या फायदा होगा, इसमें कितने रुपये का खर्चा होगा, कितने लोगों को रोजगार मिलेगा, कितनी फैक्ट्रियां लगेगी। ये तमाम सवाल है जो लोगों के मन में चल रहे हैं। इन सवालों के जवाब हम आप को बताने जा रहे हैं।


सबसे अधिक अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा वाला राज्य बनेगा उत्तर प्रदेश

यह एयरपोर्ट इसलिए भी खास है क्योंकि यह दुनिया का चौथा सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा होगा। और यही नहीं ये एशिया में अब तक का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। वही यह उत्तर प्रदेश का पांचवां अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट में शामिल होगा। अभी तक तमिलनाडु और केरल देश के एकमात्र ऐसे राज्य हैं जहां 4-4 अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं। इसका मतलब है कि आने वाले समय में उत्तर प्रदेश सबसे अधिक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों वाला राज्य बन जाएगा।


2012 तक राज्य में केवल दो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे थे। वही कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा 20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उद्घाटन के बाद शुरू हुआ, जबकि एक और अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा अयोध्या में बन रहा है। जहां अगले साल से सेवाएं शुरू हो जाएंगी।


1 लाख से अधिक लोगों को मिलेगा रोजगार

जेवर हवाई अड्डा राष्ट्र के विकास में मदद करेगा। यह एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। यह 1 लाख से अधिक लोगों के लिए रोजगार के अवसर भी पैदा करेगा। यह दिल्ली से सटे अलीगढ़, हापुड़, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और बुलंदशहर के क्षेत्रों के युवाओं को नौकरी के अवसर देगा।

जेवर एयरपोर्ट बनाने में कितना खर्च आएगा?

जाहिर सी बात है जब इतना भव्य एयरपोर्ट बनने जा रहा है तो उसमे बहुत रूपये भी खर्च होंगे। इस लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने इसके निर्माण के लिए 2000 करोड़ रूपये का बजट तय किया है। वही अनुमान लगया जा रहा है कि इसे पूरा करने में लगभग 29 हजार 650 करोड़ रुपये खर्च हो सकते हैं।

5 हजार से अधिक हेक्टेयर जमीन पर बनेगा एयरपोर्ट

जेवर एयरपोर्ट 5,845 हेक्टेयर जमीन पर बन कर तैयार किया जाएगा। यहां से एक साथ कम से कम 178 विमान उड़ान भर सकेंगे। हालांकि पहले चरण में इसका निर्माण 1334 हेक्टेयर भूमि पर किया जाएगा। निर्माण कार्य चार चरणों में पूरा किया जाएगा।

जेवर हवाई अड्डे पर होंगे 5 रनवे

जेवर एयरपोर्ट पर कुल 5 रनवे होंगे और एक रिपोर्ट के मुताबिक शुरुआत में यहां से हर साल करीब यहां से एक करोड़ से अधिक यात्री उड़ान भरेंगे. पहले साल में 40 लाख यात्रियों की आवाजाही का अनुमान लगाया गया है।

ये कम्पनी करेगी जेवर एयरपोर्ट का निर्माण

यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (YEIDA) को नोएडा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के निर्माण के लिए कार्यकारी एजेंसी के रूप में नियुक्त किया गया है और विकास की जिम्मेदारी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी को सौंपी गई है।

एयरपोर्ट के पास बनेगा टेक्सटाइल हब

जेवर के पास बनेगा टेक्सटाइल हब 100 से ज्यादा कंपनियों ने यमुना प्राधिकरण से मांगी जमीन 10 हजार करोड़ रुपये के निवेश का अनुमान।

इंडस्ट्री हब बनेगा जेवर

जेवर एयरपोर्ट के आसपास 126 उद्योग धंधे स्थापित होंगे। यहां उद्योगों यूनिट बनाने की तैयारी लगभग शुरू हो गई है।

फिल्म सिटी का काम हुआ शुरू

एयरपोर्ट के पास सेक्टर 20 में फिल्म सिटी बनाई जा रही है। जिसकी तैयारी जोरो शोर से चल रही है। इससे हजारों लोगों को रोजगार के साथ ही युवाओं को नये क्षेत्र में आने का मौका मिलेगा।

जेवर एयरपोर्ट के पास इन फर्मों ने ली जमीन

जेवर एयपोर्ट के पास पतंजलि समेत 69 फर्मों ने 146 हेक्टेयर औद्योगिक जमीन ली है। इससे करीब 1 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा। इसके साथ ही पतंजलि फूड पार्क बनेगा। यहां कंपनी 6 हजार करोड़ रुपये का निवेश करेगी।

जेवर एयरपोर्ट के पास डेटा सेंटर पार्क बनेगा। इसमें 20 हजार करोड़ रुपये का निवेश किया जा रहा है।

-इलेक्ट्रॉनिक पार्क के तहत तमाम बड़ी इलेक्ट्रॉनिक कंपनियां 50 हजार रुपये से ज्यादा का निवेश करेंगी। साथ ही युवाओं के नौकरी के अवसर मिलेंगे।

-टॉय सिटी पार्क से 600 करोड़ रुपये का निवेश होगा। यहां पर टॉय इंडस्ट्री लगेगी। जिससे हजारों लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।


और पढ़ें
Next Story