Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Nirbhaya Rape Case: दोषियों को बचाने के लिए कानूनी तिकड़म लगा रहे वकील, अभी बाकी हैं ये विकल्प

निर्भया गैंगरेप और हत्या के मामले में चार दोषियों के दस्तावेज और फांसी पर रोक के फैसले के खिलाफ तिहाड़ जेल की याचिका पर सुनवाई होगी।

Nirbhaya Rape Case: दोषियों को बचाने के लिए कानूनी तिकड़म लगा रहे वकील, अभी बाकी हैं ये विकल्पनिर्भया केस (फाइल फोटो)

दिल्ली हाईकोर्ट में आज रविवार को विशेष सुनवाई होगी। निर्भया गैंगरेप और हत्या के मामले में चार दोषियों के दस्तावेज और फांसी पर रोक के फैसले के खिलाफ तिहाड़ जेल की याचिका पर सुनवाई होगी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जस्टिस ने चार दोषियों मुकेश कुमार, विनय शर्मा, पवन गुप्ता और अक्षय सिंह को नोटिस जारी कर दिया था। जिसके बाद तिहाड़ जेल अधिकारियों को भी नोटिस जारी कर केंद्र सरकार की याचिका पर अपना पक्ष रखने की मांग की है।

वहीं सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट को पहले ही बताया है कि निर्भया गैंगरेप का मामला भारत के इतिहास में नीचे चला जाएगा जहां जघन्य अपराध के अपराधी देश के धैर्य की कोशिश कर रहे हैं।

दोषियों के पास कानूनी विकल्प बाकी

निर्भया के दोषियों के पास अभी की दो विकल्प बाकी है। एक दोषी की याचिका राष्ट्रपति के पास लंबित है तो वहीं पवन गुप्ता के पास कोर्ट और राष्ट्रपति के पास दया याचिका भेजना का वक्त बता है। ऐसे में अगर राष्ट्रपति दया याचिका को खारिज कर देते हैं तो ये सुप्रीम कोर्ट भी जा सकते हैं, राष्ट्रपति के फैसले के खिलाफ।

1. मुकेश सिंह और विनय शर्मा की क्यूरेटिव पिटीशन और दया याचिका खत्म हो चुकी है।

2. अक्षय की क्यूरेटिव याचिका खारिज हो चुकी है तो वहीं राष्ट्रपति के पास दया याचिका विचाराधीन है।

3 पवन गुप्ता के पास अभी दोनों विकल्प मौजूद हैं। उसने कोर्ट में अपने आप को नाबालिक बताते हुए आगे याचिका दायर की है।

Next Story
Top