Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

निर्भया गैंगरेप केस: दोषी अक्षय ने जेल अधिकारियों को भेजी दूसरी दया याचिका

दोषी अक्षय ठाकुर की पत्नी ने उसे फांसी से बचाने के लिए नई चाल चली है। उनकी पत्नी पुनीता ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

निर्भया गैंगरेप केस: दोषी अक्षय ने जेल अधिकारियों को भेजी दूसरी दया याचिका

दिल्ली तिहाड़ जेल के निर्भया गैंगरेप केस में एक दोषी अक्षय ने आज शाम जेल अधिकारियों को दूसरी दया याचिका दायर की है। दया याचिका में भारत के माननीय राष्ट्रपति को संबोधित किया गया है। यह दिल्ली सरकार के माध्यम से गृह मंत्रालय को भी भेजी जाएगी।

बता दें कि दोषी अक्षय ठाकुर की पत्नी ने उसे फांसी से बचाने के लिए नई चाल चली है। उनकी पत्नी पुनीता ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। दरअसल दोषी अक्षय ठाकुर की पत्नी पुनीता ने औरंगाबाद परिवार न्यायालय में तलाक की अर्जी दाखिल की है।

उन्होनें कहा कि मैं उसकी विधवा के रूप में अपना जीवन नहीं जी सकती। उनके पति को निर्भया मामले में दोषी ठहराया गया है। कोर्ट के फैसले के बाद उन्हें फांसी की सजा दी जानी है। जबकि मेरे पति बिल्कुल निर्दोष हैं। फांसी देने के बाद मैं अपनी पति की विधवा बन कर नहीं रहना चाहती। इस कारण फांसी होने से पहले ही मुझे तलाक चाहिए।

अक्षय की पत्नी ने दाखिल की तलाक की अर्जी

इस मामले में अक्षय ठाकुर की पत्नी के अधिवक्ता ने बताया कि पीड़ित महिला को विधिक अधिकार है। वह हिंदू विवाह अधिनियम 13(2)(II) के तहत कुछ मामलों में पत्नी अपने पति को तलाक देने का अधिकार रखती है। जिसमें रेप का मामला भी शामिल है।

इस अधिनियम के तहत यदि बलात्कार मामले में किसी भी महिला के पति को दोषी ठहराया गया हैं, तो उस स्थिति में पत्नी अपने पति को तलाक दे सकती है। बता दें कि इस मामले में सुनवाई की तारीख 19 मार्च तय की गई है। फिर 20 मार्च को सभी आरोपियों को फांसी दी जानी है।

Next Story
Top