Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

NIA DG का बड़ा बयान, एजेंसियों को दिए गए 125 आतंकवादियों के नाम

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) के डीजी योगेश चंद्र मोदी ने बड़ा बयान दिया है। सोमवार को एनआईए ने 125 आतंकवादियों के नामों की लिस्ट साझा की है।

NIA DG का बड़ा बयान, एजेंसियों को दिए गए 125 आतंकवादियों के नाम

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) के डीजी योगेश चंद्र मोदी ने बड़ा बयान दिया है। सोमवार को एनआईए ने 125 आतंकवादियों के नामों की लिस्ट साझा की है। एजेंसियों के साथ इन नामों को साझा किया गया है। एनआईए के आतंकवाद निरोधी दस्ते और विशेष कार्यबल की बैठक हो रही है।

अजीत डोभाल का बड़ा बयान

राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) अजीत डोभाल ने बैठक में कहा कि हाल ही में लिए गए कड़े फैसलों से कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ जो प्रभाव पड़ा है वो किसी भी अन्य की तुलना में अधिक है। अगर किसी अपराधी को किसी राज्य का समर्थन है तो यह एक बड़ी चुनौती है। कुछ राज्यों को इसमें महारत हासिल है, हमारे मामले में पाकिस्तान ने इसे अपनी राज्य नीति का एक साधन बना लिया है। जिसको जड़ से उखाड़ फेकना होगा।

एनआईए आईजी आलोक मित्तल ने बैठक के दौरान कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंकी फंडिंग मामले में अलगाववादी नेताओं को गिरफ्तार किया जा चुका है। एफआईआर दाखिल की गई है। अब तक किसी को भी जमानत नहीं मिली है। उन्हें पाकिस्तान से भारत में आतंकवाद फैलाने के लिए पैसा मिल रहा था।

उन्होंने आगे कहा कि पंजाब में आतंकी गतिविधियों को पुनर्जीवित करने के लिए सीमा पार से लगातार कोशिश हो रही है। यूके, इटली, फ्रांस और ऑस्ट्रेलिया से फंड भेजा गया। न्याय के लिए सिखों की भारत विरोधी गतिविधियों पर एक नया मामला दर्ज किया गया है। जो सोशल मीडिया पर अभियान चला रहे हैं और सिख युवाओं को कट्टरपंथी बनाने की कोशिश कर रहे हैं। पिछले साल यूपी के शामली में 5 गिरफ्तार आरोपियों ने इस बात को स्वीकार किया है। उन्हें रेफरेंडम 2020 प्रचार के जरिए कट्टरपंथी बनाया गया।

मीडिया रिपोर्ट मुताबिक, वाईसी मोदी ने कहा कि हमने नोटिस किया है कि जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश में अपनी गतिविधियां बढ़ा रहा है। वो सिर्फ यहीं ही नहीं बल्कि बिहार, महाराष्ट्र, केरल और कर्नाटक तक पहुंच गया है। जिसे हमें रोकना होगा।

बता दें कि एनआईए के आतंकवाद निरोधी दस्ते और विशेष कार्यबल की दिल्ली में बैठक हो रही है। जिसमें एमओएस होम जी किशन रेड्डी, एनएसए अजीत डोभाल, एनआईए डीजी वाईसी मोदी, आईबी के पूर्व विशेष निदेशक और नागालैंड के राज्यपाल आरएन रवि मौजूद हैं।

Next Story
Share it
Top