logo
Breaking

मुस्लिम ऑटो ड्राइवर ने पेश की मिसाल, कर्फ्यू तोड़कर प्रसव पीड़ित हिंदू महिला को पहुंचाया अस्पताल

असम के हैलाकांडी में तनाव के बीच एक मुस्लिम ऑटो ड्राइवर सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल पेश की है। दरअसल एक मुस्लिम ऑटो ड्राइवर ने कर्फ्यू को तोड़ते हुए प्रसव पीड़ा झेल रही हिंदू महिला को अस्पताल पहुंचाया। हैलाकांडी में 10 मई को हुई हिंसा के बाद कर्फ्यू लगा है।

मुस्लिम ऑटो ड्राइवर ने पेश की मिसाल, कर्फ्यू तोड़कर प्रसव पीड़ित हिंदू महिला को पहुंचाया अस्पताल

असम के हैलाकांडी में तनाव के बीच एक मुस्लिम ऑटो ड्राइवर सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल पेश की है। दरअसल एक मुस्लिम ऑटो ड्राइवर ने कर्फ्यू को तोड़ते हुए प्रसव पीड़ा झेल रही हिंदू महिला को अस्पताल पहुंचाया। हैलाकांडी में 10 मई को हुई हिंसा के बाद कर्फ्यू लगा है।

हैलाकांडी की जिलाधिकारी कीर्ति जल्ली और जिला पुलिस अधीक्षक मोहनेश मिश्रा दोनों महिला नंदिता के घर पहुंचे। इस दौरान जिलाधिकारी कीर्ति ने बताया कि कर्फ्यू के दौरान 12 मई को एक बच्चा पैदा हुआ, बच्चे को घर ले जाने के लिए कोई वाहन उपलब्ध नहीं था। इसलिए, बच्चे के पिता रूबेन दास ने अपने दोस्त मकबूल (ऑटो ड्राइवर) को फोन किया। जिसने कर्फ्यू के दौरान पुलिस का रिस्क लेते हुए परिवार को घर पहुंचाया।



जिलाधिकारी कीर्ति ने आगे बताया कि बच्चे का नाम 'शांति' रखा गया है। हमें यह स्टोरी पसंद आई है और हम चाहते हैं कि जिले में इनकी तरह कुछ और कहानियाँ हो इसलिए हम उन्हें सुविधाजनक बनाने के लिए यहाँ हैं। उन्होंने कहा कि हमें हिंदू-मुस्लिम एकता के ऐसे और उदाहरणों की आवश्यकता है।



बता दें कि बीते शुक्रवार को हुई साम्प्रदायिक हिंसा में पुलिस की गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और 15 अन्य घायल हुए थे। वहीं 15 वाहन और 12 दुकानें भी क्षतिग्रस्त हुई थीं।

Share it
Top