Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

असम-मेघालय सीमा विवाद को लेकर अमित शाह के आवास पर हुई बैठक, विवादित मुद्दों पर हुई चर्चा

करीब पांच दशक से चल रहे मेघालय (Meghalaya) और असम (Assam) के बीच सीमा विवाद (border dispute) को लेकर आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ( Amit Shah) के आवास पर बैठक हुई।

असम-मेघालय सीमा विवाद को लेकर अमित शाह के आवास पर हुई बैठक, विवादित मुद्दों पर हुई चर्चा
X

करीब पांच दशक से चल रहे मेघालय (Meghalaya) और असम (Assam) के बीच सीमा विवाद (border dispute) को लेकर आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ( Amit Shah) के आवास पर बैठक हुई। इस बैठक में मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा (Konrad Sangma) और असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) दोनों मौजूद थे।

इस बैठक के बैठक समाप्त होने के बाद असम के मुख्यमंत्री ने एक न्यूज़ एजेंसी को बताया केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) ने आज दिए गए प्रतिनिधित्व को सुना। उन्होंने कहा अब हमें 26 जनवरी के बाद गृह मंत्रालय (Home Ministry) फिर से अधिकारियों के साथ बैठक के लिए बुलाएगा, ताकि चर्चा को आगे बढ़ाया जा सके।

वहीं मेघालय के सीएम कोनराड संगमा ने कहा कि असम के सीएम हिमंत सरमा के साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिले और उन्हें क्षेत्रीय समितियों की रिपोर्ट (Regional Committees Report) से अवगत कराया। उन्होंने दोनों राज्यों द्वारा की गई पहल पर प्रसन्नता व्यक्त की। गृह मंत्रालय रिपोर्ट (Home Ministry Report) की जांच करेगा और हम 26 जनवरी के बाद फिर से गृह मंत्री से मुलाकात करेंगे।

दरअसल, दोनों राज्यों के बीच पांच दशक पुराने सीमा विवाद को सुलझाने के लिए असम और मेघालय मंत्रिमंडल (Meghalaya Cabinet) ने लेन-देन के फॉर्मूले को मंजूरी दे दी है। पहले चरण में 12 विवादित क्षेत्रों में से छह क्षेत्रों का समाधान किया जाएगा। जिसमें हाहिम, गिजांग, ताराबारी, बोकलापारा, खानापारा-पिलिंगकाटा और रतचेरा शामिल हैं। अन्य छह क्षेत्रों, जहां विवाद अधिक जटिल हैं, उसपर बाद में विचार किया जाएगा। योजना के अनुसार सीमा का सीमांकन संसदीय प्रक्रिया के बाद होने की संभावना है। वहीं आवश्यक क्षेत्रों के निरीक्षण के लिए सर्वे ऑफ इंडिया को भी तैनात किया जाएगा।

और पढ़ें
Next Story