Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मौसम की जानकारी : भारी बारिश ले कारण कई राज्यों में बाढ़ का खतरा

मानसून आने के बाद चिलचिलाती गर्मी से भले ही लोगों को राहत मिल गई हो लेकिन भारी बारिश के इस दौर ने आम जनजीवन का जीना बेहाल कर दिया है। देश के कई राज्यों में पिछले एक हफ्ते से भारी बारिश का कहर जारी है। कई जगह तो बाढ़ का खतरा भी मंडरा रहा है। आईए जानते हैं कि बारिश के कहर से देश का कौन-कौन सा हिस्सा प्रभावित है...

मौसम की जानकारी : भारी बारिश से आम जनजीवन तबाह, कई राज्यों में बाढ़ का खतराMausam Ki Jankari Weather News Monsoon Weather Report Heavy Rain

मानसून आने के बाद चिलचिलाती गर्मी से भले ही लोगों को राहत मिल गई हो लेकिन भारी बारिश के इस दौर ने आम जनजीवन का जीना बेहाल कर दिया है। देश के कई राज्यों में पिछले एक हफ्ते से भारी बारिश का कहर जारी है। कई जगह तो बाढ़ का खतरा भी मंडरा रहा है। इन सब के बीच शुरूआती बारिश में ही सरकारों की व्यवस्था का पोल खुल गया है। सड़कों पर जगह-जगह जलभराव की स्थिति बनी हुई है। लोगों का घर में कैद रहना मजबूरी बन गया है।

देश के कई हिस्सों में बारिश की वजह से यातायात व्यवस्था भी प्रभावित हो चुकी है। मौसम विभाग के अनुसार महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, झारखंड, कोंकण, उत्तराखंड, कर्नाटक, नागालैंड, मणिपुर, त्रिपुरा और मेजोरम में शनिवार को बारिश के आसार हैं, कहीं हल्की फुल्की बारिश हो सकती है तो कहीं भारी बारिश की संभावना है। इस दौरान तेज हवा चलने के भी आसार हैं।

भारी बारिश के कारण हरियाणा व पंजाब के कई हिस्सों में आम जन-जीवन प्रभावित हुआ। इस दौरान तापमान में भी काफी कमी आई। पूर्वोत्तर के राज्य असम में तो 6 लोगों की मौत हो गई। राज्य के कई जिले में बाढ़ का खतरा बना हुआ है। अगर बाढ़ आती है तो करीब 8.7 लाख लोग प्रभावित होंगे।

वहीं पश्चिम बंगाल के कालीझोरा और सेतीझोरा के पास पांच जगहों पर पहाड़ियों का एक बड़ा हिस्सा बारिश की वजह से गिर गया है जिससे यातायात प्रभावित हो गया है। बता दें कि पिछले 3 दिनों से बंगाल में लगातार बारिश हो रही है जिससे सामान्य जन जीवन काफी प्रभावित हुआ है।

कई इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति बनी हुई है। अलीपुरद्वार और न्यू जलपाईगुड़ी में ट्रेन सेवा प्रभावित हो गई है। यही हाल दक्षिण गुजरात का भी है, वलसाड और वापी में भारी बारिश से जनजीवन घरों में बंद रहने के लिए मजबूर हैं।

Share it
Top