Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

संघ प्रमुख मोहन भागवत के आरक्षण वाले बयान पर छिड़ी बहस , तेजस्वी, मायावती और प्रियंका ने दी प्रतिक्रिया

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) चीफ मोहन भागवत के बयान के बाद आरक्षण पर बहस तेज हो गई है। देशभर के नेता मोहन भागवत के आरक्षण वाले बयान पर प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

संघ प्रमुख मोहन भागवत के आरक्षण वाले बयान पर छिड़ी बहस , तेजस्वी, मायावती और प्रियंका ने दी प्रतिक्रिया

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) चीफ मोहन भागवत के आरक्षण वाले बयान के बाद बहस तेज हो गई है। देशभर के नेता मोहन भागवत के आरक्षण वाले बयान पर प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने मोहन भागवत के बयान पर तंज कसा है। तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मोहन भागवत जी के बयान के बाद आपको यह साफ होना चाहिए कि क्यों हम आपको संविधान बचाओ और बेरोज़गारी हटाओ, आरक्षण बढ़ाओ के नारों के साथ आगाह कर रहे थे। 'सौहार्दपूर्ण माहौल' की नौटंकी में ये आपका आरक्षण छीन लेने की योजना में काफी आगे बढ़ चुके है।जागो,जगाओ और अधिकार बचाने की मशाल जलाओ।

ऐसी चर्चा शक का माहौल बनाएगी

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती ने भी मोहन भागवत ने के आरक्षण वाले प्रतिक्रिया दी। मायावती ने ट्वीट कर कहा कि आरएसएस का एससी/एसटी/ओबीसी आरक्षण के सम्बंध में यह कहना कि इसपर खुले दिल से बहस होनी चाहिए, संदेह की घातक स्थिति पैदा करता है जिसकी कोई जरूरत नहीं है। आरक्षण मानवतावादी संवैधानिक व्यवस्था है जिससे छेड़छाड़ अनुचित व अन्याय है। संघ अपनी आरक्षण-विरोधी मानसिकता त्याग दे तो बेहतर है।

RSS का हौसला बढ़ा हुआ है

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर हमला किया है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि RSS का हौसला बढ़ा हुआ है। जिस समय भाजपा सरकार एक-एक करके जनपक्षधर कानूनों का गला घोंट रही है। RSS ने भी लगे हाथ आरक्षण पर बहस करने की बात उठा दी है।

मोहन भागवत ने दिया ये बयान

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि जो आरक्षण के पक्ष में हैं और जो इसके खिलाफ हैं उन लोगों के बीच इस पर सद्भावपूर्ण माहौल में बातचीत होनी चाहिए। भागवत के इस बयान के बाद नेताओं की प्रतिक्रियाएं शुरू हो गईं।

Next Story
Top