Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

West Bengal: दुर्गा पंडाल में लगेगी ममता बनर्जी की मूर्ति, भाजपा ने कहा- मुख्यमंत्री के हाथ खून से रंगे

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मूर्ति (Statue of Chief Minister Mamata Banerjee) को लेकर भारतीय जनता पार्टी आईटी सेल (BJP IT Cell) के प्रमुख अमित मालवीय (Amit Malviya) ने कहा है कि राज्य में विधानसभा चुनाव के बाद जिस तरह से हिंसा हुई है उसमें ममता बनर्जी के हाथों में निर्दोष बंगालियों (Bengalis) का खून (Blood) है। यह देवी दुर्गा मां (Durga Maa) का अपमान है।

West Bengal: दुर्गा पंडाल में लगेगी ममता बनर्जी की मूर्ति, भाजपा ने कहा- मुख्यमंत्री के हाथ खून से रंगे
X

सीएम ममता बनर्जी 

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कोलकाता (Kolkata) में बागुईहाटी क्षेत्र के नजरूल पार्क उन्‍नयन समिति के दुर्गा पंडाल को लेकर टीएमसी-बीजेपी (Tmc- Bjp) एक बार फिर आमने-सामने आ गए हैं। रिपोर्ट के अनुसार, नज़रूल पार्क उन्नयन समिति ने देवी दुर्गा के साथ ही पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की एक मूर्ति लगाने का निर्णय लिया है। जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल सरकार (west bengal govt) पर हमलावर हो गई है।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मूर्ति (Statue of Chief Minister Mamata Banerjee) को लेकर भारतीय जनता पार्टी आईटी सेल (BJP IT Cell) के प्रमुख अमित मालवीय (Amit Malviya) ने कहा है कि राज्य में विधानसभा चुनाव के बाद जिस तरह से हिंसा हुई है उसमें ममता बनर्जी के हाथों में निर्दोष बंगालियों (Bengalis) का खून (Blood) है। यह देवी दुर्गा मां (Durga Maa) का अपमान है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को खुद आगे आकर इसे रोकना चाहिए। मुख्यमंत्री वह हिंदुओं (Hindus) की संवेदनाओं को आहत कर रही हैं।

वहीं भाजपा नेता अर्जुन सिंह (BJP leader Arjun Singh) का कहना है कि भारत (India) के इतिहास में जिस भी राजनेता ने अपनी मूर्ति बनवाई है, उसे विनाश का सामना करना पड़ा है। अभी तक के इतिहास को देखें तो उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (Ex Cm Mayawati) से लेकर दक्षिण भारत (South Indian) के बड़े राजनेताओं तक को सत्‍ता से बाहर का रास्‍ता देखना पड़ा है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बंगाल (Bengal) में दशहरा पूजा (Dussehra Puja) के लिए मां दुर्गा की मूर्ति बनाने का कार्य शुरू हो गया है। वहीं, मशहूर क्ले मॉडलर मिंटू पाल (Famous clay modeler Mintu Pal) ने कहा कि पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता (Kolkata) में होने वाली थीम पूजा में इस तरह का विचार सामने आया। जब दुर्गा पूजा की थीम पर विचार चल रहा था तो मैंने कहा कि क्‍यों न सीएम ममता बनर्जी को मां दुर्गा के रूप में दिखाया जाए। ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल, बंगाल के लोगों और बंगाली समाज के लिए 'कन्याश्री', 'जुबोश्री', 'स्वास्थ्य साथी', 'लखीर भंडार' जैसी योजनाएं लेकर लाई हैं। ममता बनर्जी ने जिस तरह की योजनाओं की शुरुआत की है उस तरह की शुरुआत किसी भी सीएम ने नहीं की है।

मिंटू पाल ने यह भी कहा कि ममता बनर्जी की मूर्ति के 10 हाथों में हथियार रखने के बजाय, कन्याश्री, स्वस्थ साथी, रूपश्री, सबुज साथी और लखीर भंडार जैसी परियोजनाओं का चित्रण किया जाएगा। हमारा मकसद है कि इस मूर्ति को देखकर लोगों को पता चले कि ममता बनर्जी ने आम लोगों के लिए कौन-कौन सी योजनाओं की शुरुआत की है।

Next Story