Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महाराष्ट्र पर मंडराया कोरोना की तीसरी लहर का साया! पुणे में फिर लगा वीकेंड लॉकडाउन

पीएमसी आयुक्त विक्रम कुमार के द्वारा जारी किए गए आदेश के अनुसार,  गैर-जरूरी सामान वाले स्टॉल और दुकानें, मॉल, सैलून, ब्यूटी पार्लर, स्पा, बार और फूड कोर्ट्स वीकेंडस को बंद रहेंगे।

महाराष्ट्र पर मंडराया कोरोना की तीसरी लहर का साया! पुणे में फिर लगा वीकेंड लॉकडाउन
X

हरियाणा में लॉकडाउन बढ़ाया

भारत में कोरोना वायरस के मामले धीरे धीरे कम होते जा रहे हैं, लेकिन अभी खतरा पूरी तरह से बरकरार है। देश के कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में कोरोना वायरस की तीसरी लहर आशंका जताई गई है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अनलॉक की प्रक्रिया से गुजर रहे पुणे में फिर से वीकेंड लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया गया है। यह कदम पुणे म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ने कोरोना वायरस के प्रसार की जांच करने के लिए यह उठाया है। जानकारी के अनुसार वीकेंड लॉकडाउन के दौरान गैर-जरूरी दुकानें बंद रहेंगी। आदेश के मुताबिक, पीएमसी ने रात 10 बजे के बाद बगैर किसी जरूरी घूमने फिरने पर भी पाबंदी लगा दी है। जानकारी के अनुसार, अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि दोबारा लगाई गई पाबंदियां कब तक चलेंगी।

पीएमसी आयुक्त विक्रम कुमार के द्वारा जारी किए गए आदेश के अनुसार, गैर-जरूरी सामान वाले स्टॉल और दुकानें, मॉल, सैलून, ब्यूटी पार्लर, स्पा, बार और फूड कोर्ट्स वीकेंडस को बंद रहेंगे। ये पाबंदियां पीएमसी, पुणे कैंटॉनमेंट बोर्ड, किर्की कैंटॉनमेंट बोर्ड क्षेत्र में जारी रहेंगी। जानकारी के लिए आपको बता दें कि पीएमसी ने 14 जून को लगी पाबंदी को हटा दिया था, इसके बाद फिर से इन पाबंदियों को जारी रखने का फैसला लिया गया है। इस दौरान सरकारी और प्राइवेट डॉक्टर 50% स्टाफ क्षमता के साथ संचालित हो सकेंगे। लाइब्रेरी, कोचिंग क्लासेस और ट्रैनिंग इंस्टीट्यूट भी 50 फीसदी क्षमता के साथ चल सकेंगे।

खबरों से मिली जानकारी के अनुसार, जरूरी सेवा में शामिल लोग लोकल ट्रेन सेवा का इस्तेमाल कर सकेंगे। वहीं, सार्वजनिक परिवहन के लिए बस सेवाओं का 50% यात्रियों के साथ संचालन हो सकेगा। सार्वजनिक जगह जैसे गार्डन खुले मैदान सुबह तड़के 5:00 बजे से सुबह 9:00 बजे तक ही खुलेंगे। वहीं सामाजिक, सांस्कृतिक और धार्मिक कार्यक्रम के आयोजन के लिए शाम 7 बजे तक की अनुमति है। कार्यक्रम में केवल 50 लोग ही शामिल हो सकते हैं। इसके अलावा शादी में 50 और अंतिम संस्कार में 20 लोगों के शामिल होने की अनुमति है।

Next Story