Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एकनाथ शिंदे ने उद्धव ठाकरे के औरंगाबाद और उस्मानाबाद के नाम बदलने के फैसले पर रोक लगाई, जानिए क्या है आगे की रणनीति!

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने उद्धव ठाकरे (CM Eknath Shinde) के द्वारा औरंगाबाद और उस्मानाबाद (Aurangabad and Osmanabad) के नाम बदलने के फैसले पर रोक लगा दी है।

एकनाथ शिंदे ने उद्धव ठाकरे के औरंगाबाद और उस्मानाबाद के नाम बदलने के फैसले पर रोक लगाई, जानिए क्या है आगे की रणनीति!
X

महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने उद्धव ठाकरे (CM Eknath Shinde) के द्वारा औरंगाबाद और उस्मानाबाद (Aurangabad and Osmanabad) के नाम बदलने के फैसले पर रोक लगा दी है। उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray ) ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने से पहले अपनी अंतिम कैबिनेट बैठक में औरंगाबाद का नाम संभाजीनगर (Sambhajinagar), उस्मानाबाद का नाम धाराशिव (Dharashiv) और नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (Navi Mumbai International Airport) का नाम डीबी पाटिल के नाम पर रखने का ऐलान किया था। जिस पर अब मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने रोक लगा दी है। सूत्रों के अनुसार, एकनाथ शिंदे सरकार दोनों शहरों और एयरपोर्ट के नाम बदलने का फैसला नए सिरे से करेगी।

राज्यपाल ने उद्धव ठाकरे को लिखा था पत्र

बता दें कि महाराष्ट्र के राज्यपाल ने बहुमत परीक्षण को साबित करने के लिए तत्कालीन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखा था। इस पत्र में राज्यपाल ने नाम बदलने को लेकर उद्धव ठाकरे के द्वारा लिए गए फैसले पर आपत्ति जताई थी। राज्यपाल ने कहा था कि सरकार अल्पमत में है, ऐसे वक्त में आप लोकलुभावन फैसले नहीं ले सकते हैं।

कांग्रेस ने भी जताई थी आपत्ति

जिस समय उद्धव ठाकरे ने शहरों के नाम बदलने का फैसला लिया था, तो उस समय महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने यह मुद्दा उठाया था। देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि उद्धव ठाकरे सरकार के द्वारा औरंगाबाद और उस्मानाबाद का नाम बदलने का फैसला अवैध है और जल्दबाजी में लिया गया है। शहरों और एयरपोर्ट का नाम बदलने का प्रस्ताव बहुमत परीक्षण के सुझाव के बाद पारित किया गया था। हालांकि, उद्धव ठाकरे के नाम बदलने के फैसले पर कांग्रेस ने भी आपत्ती जताई थी।

और पढ़ें
Next Story