logo
Breaking

लोकसभा चुनाव 2019: बंगाल के आसनसोल में गरजे पीएम मोदी, बोले- 'जो भ्रष्ट हैं, उन्हें मोदी से कष्ट है'

चुनाव प्रचार के दौरान पीएम मोदी आज गुजरात में वोट करने के बाद पश्चिम बंगाल में रैली की। पश्चिम बंगाल के आसनसोल में पीएम मोदी ने रैली के दौरान राज्य की सीएम ममता बनर्जी और टीएमसी को लेकर जमकर निशाना साधा।

लोकसभा चुनाव 2019: बंगाल के आसनसोल में गरजे पीएम मोदी, बोले-

लोकसभा चुनाव 2019 के तीसरे चरण में 16 राज्यों की 116 सीटों पर बंपर वोटिंग हो रही है। इसी बीच जिन राज्यों में वोटिं नहीं हो रही है वहां पर राजनीतिक दलों का चुनाव प्रचार तेजी से हो रहा है। चुनाव प्रचार के दौरान पीएम मोदी आज गुजरात में वोट करने के बाद पश्चिम बंगाल में रैली की। पश्चिम बंगाल के आसनसोल में पीएम मोदी ने रैली के दौरान राज्य की सीएम ममता बनर्जी और टीएमसी को लेकर जमकर निशाना साधा।

आसनसोल रैली के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आसनसोल, बर्धमान और दुर्गापुर के मेरे साथियों आप सच में कमाल कर रहें हैं। इस बार पश्चिम बंगाल में आपने कमल खिलाने की जो ठानी है, उसकी चर्चा पूरे देश में हैं। वोटिंग जारी है। इस बीच रामपुर में ईवीएम खराब होने की खबरे लगातार आ रही हैं। समाजवादी नेता अब्दुल्ला आजम खान ने दावा किया है कि रामपुर में 300 से ज्यादा ईवीएम में दिक्कतें और खराबी आ रही है। वहीं उन्होंने डीएम पर गड़बड़ी का आरोप भी लगाया है।

पीएम मोदी ने कहा कि जो लोकतंत्र को हाईजैक करने की कोशिश करती हो, ऐसी तृणमूल को सबक सिखाने का मन पश्चिम बंगाल ने बना लिया है। स्पीड ब्रेकर दीदी, उनकी ये बौखलाहट, चुनाव आयोग पर भड़कना और मोदी को गाली देना आप सब देख रहे हैं। दीदी की ये बौखलाहट तब और बढ़ जाती है जब में कहता हूं कि जो भ्रष्ट है उसी को मोदी से कष्ट है।

उन्होंने आगे कहा कि आपका पसीना, आपका बलिदान, पश्चिम बंगाल के हर उस व्यक्ति को शक्ति देने वाला है। जिसकी आवाज़ को दशकों से दबाया गया, जिसके हक को गुंडों ने छीन लिया। जिसकी कमाई को जगाई-मथाई के गठबंधन ने लूट लिया। आज टीएमसी की सरकार घोटालों के विषय में कांग्रेस को पूरी टक्कर दे रही है। करप्शन हो या क्राइम ये दो ही ऐसी चीज हैं जो टीएमसी के राज में नॉन स्टॉप है। बाकी हर चीज के लिए स्पीड ब्रेकर दीदी तो हैं ही।

पीएम मोदी ने कहा कि नारदा, सारदा, रोज़वैली सिर्फ घोटाले नहीं बल्कि गरीबों के जीवन के साथ किया गया बहुत बड़ा अपराध है। इसके तार कहां तक पहुंच रहे हैं, ये भी आप जानते हैं। एक मुख्यमंत्री जब सरेआम गरीबों को लूटने वालों के पक्ष में खड़ा हो जाए, तो स्थिति आप समझ ही सकते हैं। स्पीड ब्रेकर दीदी का मॉडल तृणमूल टोलाबाजी टैक्स पर आधारित है। उनका मॉडल आधारित है कोल माफिया, बालू माफिया, आयरन माफिया और जमीन माफिया पर। उनका मॉडल है, पहले घुसपैठियों को आने का रास्ता दो और फिर पश्चिम बंगाल के संसाधनों में उन्हें लूट का हिस्सा दो।

इसके बाद आगे कहा कि स्पीड ब्रेकर दीदी ने एक डवलपमेंट मॉडल विकसित किया है। पहले तो यहां नौकरी की मुश्किल है। नौकरी मिलती है तो वेतन नहीं मिलता। जिनको वेतन मिलता है, उन्हें इंक्रीमेंट नहीं मिलता, वेतन में बढोतरी नहीं होती। जिनकी तनख्वाह कुछ बढ़ती है, उन्हें DA का लाभ नहीं मिलता। स्पीड ब्रेकर दीदी ने एक डवलपमेंट मॉडल विकसित किया है। पहले तो यहां नौकरी की मुश्किल है। नौकरी मिलती है तो वेतन नहीं मिलता। जिनको वेतन मिलता है, उन्हें इंक्रीमेंट नहीं मिलता, वेतन में बढोतरी नहीं होती।

टीएमसी की आज ये स्थिति हो गई है कि रैलियों में लोग नहीं आ रहे हैं तो विदेशों से फिल्मी कलाकार बुलाने पड़ रहे हैं। मुट्ठी भर सीटों पर लड़कर दीदी प्रधानमंत्री बनने का सपना भी देख रही हैं। अगर ऑक्शन से प्रधानमंत्री का पद मिल जाता तो दीदी और कांग्रेस ने जो माल लुटा है वो लेकर ये ऑक्शन में आ जाते।

इसके बाद कहा कि आपका ये चौकीदार दो टूक कहना चाहता है कि घुसपैठियों के दम पर पश्चिम बंगाल की राजनीति अब नहीं चलेगी। दीदी ने भाड़े के गुंडों के दम पर शासन की जो परंपरा चलाई है, वो अब बंद होगी। अब पश्चिम बंगाल का भाग्य और देश की दिशा भारत माता की जय कहने वाले ही तय करेंगे।

Share it
Top