logo
Breaking

लोकसभा चुनाव 2019 : 7वें चरण का प्रचार खत्म, 19 मई को होगा अंतिम चरण का मतदान

लोकसभा चुनाव के सातवें और आखिरी चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान किया जाएगा जिसमें बिहार की 8, हिमाचल प्रदेश की 4, झारखंड की तीन, केरल की आठ, पंजाब की 13 और पश्चिम बंगाल की नौ सीटें शामिल हैं। सातवें चरण के लिए 19 मई को मतदान किया जाएगा। इस चरण में पीएम की लोकसभा सीट वाराणसी सहित यूपी की 13 सीटों पर मतदान होना है।

लोकसभा चुनाव 2019 : 7वें चरण का प्रचार खत्म, 19 मई को होगा अंतिम चरण का मतदान

लोकसभा चुनाव के सातवें और आखिरी चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान किया जाएगा जिसमें बिहार की 8, हिमाचल प्रदेश की 4, झारखंड की तीन, केरल की आठ, पंजाब की 13 और पश्चिम बंगाल की नौ सीटें शामिल हैं। सातवें चरण के लिए 19 मई को मतदान किया जाएगा। इस चरण में पीएम की लोकसभा सीट वाराणसी सहित यूपी की 13 सीटों पर मतदान होना है।

राजनीतिक दलों का चुनाव प्रचार आज शाम पांच बजे समाप्त हो गया है। वहीं चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार जो कि 17 मई को 5 बजे खत्म होना था वहां हिंसा के कारण एक दिन पहले ही गुरुवार (16 मई) को 10 बजे के बाद रोक लगा दी है।

अंतिम चरण के लिए सभी दलों ने पूरी ताकत झोंक दी है। शुक्रवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमनंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी मुख्यालय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी प्रेस को संबोधित किया।

इस दौरान शाह ने दावा किया कि भाजपा तीन सौ से ज्यादा सीटें जीतेगी और केंद्र में एनडीए की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि 2014 में जिन 120 सीटों पर हमारी पार्टी नहीं जीती थी उनमें से 80 सीटों पर हमारी जीत होगी। इन 80 सीटों पर इस बार हम पूरी मजबूती से लड़े।

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं मानता हूं कि कुछ बातें हम गर्व के साथ दुनिया से कह सकते हैं। ये दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है, ये लोकत्रंत की ताकत दुनिया के सामने ले जाना हम सबका दायित्व है। हमें विश्व को प्रभावित करना चाहिए कि हमारा लोकतंत्र कितनी विविधताओं से भरा है।

मोदी ने कहा कि चुनाव शानदार रहा, एक सकारात्मक भाव से चुनाव हुआ। पूर्ण बहुमत वाली सरकार पांच साल पूरे करके दोबारा जीतकर आए ये शायद देश में बहुत लंबे अर्से के बाद हो रहा है। ये अपने आप में बड़ी बात है।

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी की जो फिलॉसफी है वह हिंसा की है गांधी जी की नहीं है। बाकी जनता 23 मई को जो डिसाइड करेगी उसके आधार पर काम करेंगे। उससे पहले मैं इस बारे में कुछ नहीं बोलूंगा।

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग की भूमिका इस चुनाव में पक्षपाती रही है, मोदी जी जो भी कहना चाहते हैं कह सकते हैं जबकि हमें वही बात कहने से रोका जाता है। लगता है कि चुनाव कार्यक्रम मोदी जी के चुनाव प्रचार के लिए बनाया गया था। भाजपा और नरेंद्र मोदी के पास बहुत पैसा है जबकि हमारे पास सच्चाई है।

Share it
Top