logo
Breaking

5 साल पहले आज ही के दिन आया था पीएम मोदी का चुनावी रिजल्ट, 'मोदी लहर' के आगे ढेर हो गया था विपक्ष

16 मई 2014 वो तारीख जिसे भारतीय राजनीति में नहीं भुलाया जा सकता है। आज की के दिन लोकसभा चुनाव 2014 के चुनाव के परिणामों की घोषणा हुई थी। इस बार लोकसभा चुनाव 2019 का अंतिम चरण बाकी रह गया है जो 19 मई को 8 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान होगा। और उसके बाद 23 मई को चुनाव परिणाम आ जाएंगे। देश में इस बार किसकी सरकार बनेगी।

5 साल पहले आज ही के दिन आया था पीएम मोदी का चुनावी रिजल्ट,

16 मई 2014 वो तारीख जिसे भारतीय राजनीति में नहीं भुलाया जा सकता है। आज की के दिन लोकसभा चुनाव 2014 के चुनाव के परिणामों की घोषणा हुई थी। इस बार लोकसभा चुनाव 2019 का अंतिम चरण बाकी रह गया है जो 19 मई को 8 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान होगा। और उसके बाद 23 मई को चुनाव परिणाम आ जाएंगे। देश में इस बार किसकी सरकार बनेगी।

मोदी लहर में जीती थीं इतनी सीटें

2019 के लोकसभा चुनाव के लिए भले ही एक हफ्ता रह गया हो लेकिन आज ही के दिन मोदी लहर ने विपक्ष को हराकर एक ऐतिहासिक जीत दर्ज कर पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाई थी। मोदी लहर में भाजपा और सहयोगी दलों ने जीत के झंडे गाढ़ दिए थे। तब के लोकसभा चुनावों में भाजपा ने 543 सीटों में से 282 सीटों पर अकेले जीत दर्ज की थी और एनडीए समेत 300 से ऊपर की सीटें जीती थी।

इन राज्यों में भाजपा ने किया था क्लीन स्वीप

लोकसभा चुनाव 2014 में भारतीय जनता पार्टी ने उम्दा प्रदर्शन करते हुए दिल्ली, गुजरात, राजस्थान, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश समेत गोवा में क्लीन स्वीप किया था। इतना ही नहीं अन्य राज्यों में भी भाजपा की सीटों में बढ़ोतरी हुई थी जिसमें उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, हरियाणा, महाराष्ट्र और असम की सीटें शामिल थी। इन राज्यों में कांग्रेस समेत विपक्षी दलों को मुंह की खानी पड़ी थी। कांग्रेस 44 सीटों पर सिमट गई थी।

इन राज्यों में रहा था खराब प्रदर्शन

वहीं भाजपा को कुछ राज्यों में झटका भी लगा था। पश्चिम बंगाल, तमिलनाडू, केरल और ओडिशा के इन 4 राज्यों में मोदी लहर कम दिखी थी। 2019 के चुनाव में भी पश्चिम बंगाल सबसे ज्यादा सुर्खियों में है। भाजपा एक बार फिर ममता दीदी के गढ़ बंगाल में सेंध लगाने की कोशिश में है। इस बार बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय को बनाया गया है। बंगाल में मोदी लहर के वक्त 2 सीटे और ओडिशा-तमिल में एक एक सीटें जीती थीं।

लेकिन अब 2019 के लोकसभा चुनाव के परिणाम आने में एक हफ्ता बचा है। ऐसे में एक तरफ भारतीय जनता पार्टी और उसका सहयोगी दल एनडीए और दूसरी तरफ कांग्रेस समेत अन्य दल हैं। 23 मई को साफ हो जाएगा कि देश में किस दल की सरकार बनेगी।

Share it
Top