Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रविशंकर प्रसाद का कांग्रेस पर कटाक्ष, बोले- हम संसद में चर्चा को तैयार, विपक्ष से पूछने हैं तीखे सवाल, जानें और क्या कहा

कांग्रेस ने 1947 के बाद से करीब 50 साल राज किया। लेकिन आज उनका व्यवहार कितना उचित है ये देश को जानना जरूरी है। कांग्रेस का एक सीधा मंत्र है कि परिवार का हित जब तक संसद साधेगी, तब तक संसद चलने दी जाएगी।

रविशंकर प्रसाद का कांग्रेस पर कटाक्ष, बोले- हम संसद में चर्चा को तैयार, विपक्ष से पूछने हैं तीखे सवाल, जानें और क्या कहा
X

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार को पार्टी हेडक्वार्टर में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा है। और संसद को नहीं चलने देने का आरोप लगाया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार रविशंकर प्रसाद ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि आज 5 अगस्त का शुभ दिन है। 2 वर्ष पहले आज ही के दिन अनुच्छेद 370 समाप्त हुआ। पिछले साल इसी दिन प्रभु राम के भव्य राम जन्मभूमि मंदिर का शिलान्यास हुआ और आज फिर हॉकी टीम की जीत से देश में खुशी और उल्लास है।

कांग्रेस ने 1947 के बाद से करीब 50 साल राज किया। लेकिन आज उनका व्यवहार कितना उचित है ये देश को जानना जरूरी है। कांग्रेस का एक सीधा मंत्र है कि परिवार का हित जब तक संसद साधेगी, तब तक संसद चलने दी जाएगी। जहां परिवार का हित नहीं होगा, वहां संसद नहीं चलने दी जाएगी। कोविड को लेकर कांग्रेस पार्टी की गंभीरता बस इतनी ही है कि प्रधानमंत्री जी ने जब बैठक बुलाई थी उसमें में कांग्रेस पार्टी शामिल नहीं हुई थी।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा कि आज हम संसद में चर्चा के लिए तैयार हैं। लेकिन कांग्रेस की कोई गंभीरता नहीं है। पेगासस पर मंत्री जी का वक्तव्य हुआ तो इन लोगों ने उसे मंत्री के सामने फाड़ दिया। कोई गंभीरता इन लोगों में नहीं है। क्या आज तक इन्होंने कोई सबूत दिया है कि इनका फोन टेप हुआ है? नहीं। हम संसद में चर्चा के लिए तैयार हैं। बहुत तीखे सवाल भी हमें कांग्रेस पार्टी से पूछने हैं। लेकिन एक सवाल ईमानदारी से हम पूछते हैं कि क्या कांग्रेस पार्टी और विपक्ष संसद में चर्चा चाहते हैं?

जानकारी के लिए आपको बता दें कि केंद्र सरकार लगातार यह कह रही है कि विपक्ष संसद की कार्यवाही को बाधित कर रहा है और चर्चा करना नहीं चाहता। जबकि विपक्ष की ओर से यह कहा जा रहा है कि केंद्र सरकार पेगासस और महंगाई के मुद्दे पर चर्चा क्यों नहीं कर रही है।



और पढ़ें
Next Story