Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
toggle-bar

India-Canada Conflict: कनाडा में भारतीय अधिकारियों के सामने खालिस्तानी समर्थकों का हंगामा, जारी किए धमकी भरे पोस्टर

India-Canada Conflict: कनाडा में खालिस्तानी समर्थकों की भारत के खिलाफ विरोध करने की गतिविधियां रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। ब्रिटिश कोलंबिया में भारतीय वाणिज्य दूतावास के अधिकारी के काम में खालिस्तान समर्थकों ने बाधा डालते हुए धमकी दी है।

Khalistani supporters create ruckus in front of Indian Consulate officials in Canada
X

कनाडा में भारतीय अधिकारी। 

India-Canada Conflict: खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के बाद से भारत और कनाडा के बीच रिश्तों में तल्खी है। कनाडा में खालिस्तानी समर्थकों की भारत के खिलाफ विरोध करने की गतिविधियां रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला वैंकूवर से सामने आया है। बीते सोमवार को वैंकूवर में भारत के वाणिज्य दूतावास ने भारत सरकार के पेंशन भोगियों को जीवन प्रमाण पत्र जारी करने के लिए एक कांसुलर शिविर आयोजित किया था। उसी दौरान कुछ खालिस्तानी समर्थक इकट्ठा हो गए और नारेबाजी करने लगे। हालांकि, गनीमत रही कि वाणिज्य दूतावास के अधिकारियों को स्थानीय पुलिस ने सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

खालिस्तानी समर्थकों ने दी चेतावनी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये घटना एक शिविर में हुई, जिसमें अधिकारी कनाडा में रह रहे भारतीय पेंशनधारकों को जीवन प्रमाण पत्र बांट रहे थे। यह शिविर खालसा दीवान सोसाइटी गुरुद्वारे में लगी थी। खालिस्तानी समर्थकों ने सिर्फ हंगामा ही नहीं, बल्कि संगठन सिख फॉर जस्टिस ने चेतावनी भी दी है। खालिस्तानी समर्थकों ने कहा कि आने वाले समय में भारतीय दूतावास के काम में ऐसी ही बाधा डालेंगे।

खालिस्तानी समर्थकों ने जारी किए धमकी भरे पोस्टर

बता दें कि भारतीय अधिकारी 18 और 19 नवंबर को ग्रेटर टोरंटो में भी इस तरह का एक और शिविर आयोजित करने वाले हैं। इसके अलावा ससकातून प्रांत के एक स्कूल में भारतीय वाणिज्य दूतावास कैंप लगाया जाएगा। वैंकूवर में आयोजित शिविर के लिए भी धमकी भरे पोस्टर जारी किए गए। पोस्ट में कहा गया कि वे भविष्य में इस तरह की गतिविधियों को बाधित करेंगे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, कनाडा में वरिष्ठ भारतीय अधिकारी ने कहा कि कैंप के दौरान गुरूद्वारे में 10 से 20 प्रदर्शनकारी पहुंचे और वहां खड़े कई भारतीयों से बदतमीजी करने लगे। उन्होंने कहा मौके पर पर्याप्त पुलिस मौजूद होने के चलते हमें कैंप लगाने में कोई परेशानी नहीं हुई।

फ्रेंड्स ऑफ इंडिया के अध्यक्ष ने जताया दुख

फ्रेंड्स ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मनिंदर सिंह गिल ने भारतीय अधिकारियों को इस तरह से परेशान किए जाने पर खालिस्तानी समर्थकों की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा भारतीय अधिकारियों ने बुजुर्गों के पेंशन के लिए 635 जीवन प्रमाण पत्र बनाए हैं। ये लोग कभी भारत के अलग-अलग विभागों में काम करते रहे होंगे और अब प्रवासी बनकर कनाडा में रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर ये अधिकारी कैंप नहीं लगाएंगे, तो बुजुर्गों को काफी परेशानी होगी। उन्हें प्रमाण पत्र के लिए वैंकूवर जाना होगा। जानकारी के लिए बता दें कि हाल ही में खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के बाद से कनाडा और भारत के रिश्ते में तल्खी है। कनाडा ने निज्जर की हत्या का आरोप भारत पर लगाया है और भारत ने इन आरोपों को खारिज किया है।

ये भी पढ़ें:- Rajasthan: कोविड के समय जब लोग मर रहे थे तब पीएम थाली बजाने के लिए कहा, राहुल गांधी नेे साधा निशाना

और पढ़ें
Vipin Yadav

Vipin Yadav

विपिन यादव हरिभूमि में बतौर सब एडिटर पद पर कार्यरत हैं। वे पिछले एक साल से पत्रकारिता में सक्रिय हैं। राजनीतिक और क्राइम की खबरों को लिखना और पढ़ना बेहद पसंद करते है। वे मूलरुप से अम्बेडकर नगर (यूपी) के रहने वाले हैं। उन्होंने स्नातक दिल्ली विश्वविद्यालय व परास्नातक की पढ़ाई महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय वर्धा महाराष्ट्र से की है।


Next Story