Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Kathua Case : ये हैं वे 6 दरिंदे जिन्हें कोर्ट ने माना दोषी

पिछले साल जनवरी के महीने में जम्मू कश्मीर के कठुआ में 8 साल की बच्ची के साथ रेप व हत्या के मामले में जिन 8 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है उनमें से रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी व विशेष पुलिस अधिकारी भी शामिल है। इन आठों आरोपियों में से 7 को अदालत ने सजा दे दी है वहीं एक को बरी कर दिया है। आइए जानते हैं उन दरिंदों के बारें में जिन्होंने इस घटना को अंजाम दी। क्राइम ब्रांच जम्मू-कश्मीर के अनुसार यह जानकारी प्राप्त की गई है।

Kathua Case : ये हैं वे 6 दरिंदे जिन्हें कोर्ट ने माना दोषी

पिछले साल जनवरी के महीने में जम्मू कश्मीर के कठुआ में 8 साल की बच्ची के साथ रेप व हत्या के मामले में जिन 8 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है उनमें से रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी व विशेष पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं। इनमें से एक नाबालिग आरोपी की अलग से सुनवाई की जा रही है। इन 7 आरोपियों में से 6 को अदालत ने सजा दे दी है वहीं एक को बरी कर दिया है। आइए जानते हैं उन दरिंदों के बारें में जिन्होंने इस घटना को अंजाम दी। क्राइम ब्रांच जम्मू-कश्मीर की चार्जशीट के अनुसार यह जानकारी प्राप्त की गई है।

पहला आरोपी

पुलिस की चार्जशीट में पहले आरोपी का उम्र 19 वर्ष बताया गया है जो स्कूल से ड्रॉपआउट है। इस आरोपी ने घोड़ा चराने गई लड़की को नशीली दवा खिलाई व बाद में उसके साथ दुष्कर्म किया। युवक ने पहले तो पुलिस को अपनी उम्र मात्र 15 साल बताई लेकिन बाद में मेडिकल जांच के बाद पता चला कि आरोपी का उम्र 18 से ऊपर है। इसके बाद आरोपी ने अपना गुनाह मान लिया। वहीं मासूम बच्ची के शरीर से उसका बाल भी पाया गया था जिसका डीएनए टेस्ट में साफ-साफ मैच हो गया। इस आरोपी को कोर्ट ने अभी सजा नहीं दी है।

दूसरा आरोपी

दूसरे आरोपी का नाम संजी राम बताया जा रहा है। आरोपी 60 वर्षीय है। चार्जशीट के मुताबिक संजी ही पूरे घटना का मास्टर माइंड था। बताया जा रहा है कि बकरवाल समुदाय की बच्ची के साथ साजिश के तहत अपहरण, रेप व हत्या के वारदात को अंजाम दिया गया। स्थानीय लोगों का कहना है कि अल्पसंख्यक समुदाय को यहां से हटाने के लिए यह सब किया गया है। कोर्ट ने सांजी राम को मुख्य आरोपी के तौर पर सजा दी है।

तीसरा आरोपी

मामले का तीसरा आरोपी स्पेशल पुलिस के अधिकारी दीपक खजुरिया है जिसने बच्ची को मारने से पहले रेप करने की इच्छा जताई थी। आरोपी पुलिस का नाम पहले वाले आरोपी ने अपने बयान में लिया था। जब कॉल रिकॉर्ड खंगाला गया तो यह बात पूरी तरह सामने आया कि आरोपी वहीं था जहां बच्ची को बंधक बनाकर रखा गया था। आरोपी दीपक को भी कोर्ट ने सजा सुना दी है।

चौथा आरोपी

मामले का चौथा आरोपी भी स्पेशल पुलिस का अधिकारी बताया जा रहा है। आरोपी का नाम सुरिंदर कुमार के तौर पर सामने आया है। स्थानीय लोगों ने उसे घटना वाली जगह पर भी देखा था। कॉल डेटा में भी उसकी मौजूदगी पाई गई थी। कोर्ट ने आरोपी सुरिंदर को भी इस मामले में दोषी मानते हुए सजा सुनाई है।

पांचवां आरोपी

पांचवें आरोपी की पहचान परवेश कुमार के तौर पर की गई है। जो पहले वाले आरोपी का दोस्त है। उसका नाम कॉल रिकॉर्ड में पाया गया है। उस पर भी आरोप है कि वह बच्ची के साथ लगातार रेप करता रहा। इस आरोपी को भी कोर्ट ने सजा दे दी है।

छठवां आरोपी

इस मामले में 60 वर्षीय संजी राम का बेटा विशाल जंगोत्रा भी शामिल है जो छठे आरोपी के तौर पर पाया गया है। आरोपी विशाल को फॉरेंसिक टेस्ट के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। विशाल मेरठ में पढ़ाई करता है और वह पहले आरोपी के मजा लूटने की बात कहकर कठुआ आया हुआ था। हालांकि कोर्ट ने विशाल को बरी कर दिया है।

सातवां व आठवां आरोपी

दो अन्य पुलिसकर्मियों को भी इस मामले में गिरफ्तार किया गया है। इन दोनों पुलिसकर्मियों पर आरोप है कि रिश्वत लेकर मामले को रफा दफा करने की कोशिश की थी। क्राइम ब्रांच की टीम के चार्जशीट के अनुसार एसआई आनंद दत्ता और हेड कॉन्स्टेबल तिलक राज ने मामले को दबाया था व सबूत मिटाने की कोशिश की थी। जांच के बाद पता चला कि बच्ची के कपड़े धोने व आरोपियों की मदद करने की कोशिश इन दोनों आरोपियों ने की थी। इन दोनों आरोपियों को भी कोर्ट ने सजा दी है।

Next Story
Top