Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Kargil Vijay Diwas 2022: 26 जुलाई को 23 साल पहले पाकिस्तान की हुई थी हार, यहां पढ़ें 'ऑपरेशन विजय' का इतिहास

कारगिल विजय दिवस का दिन देश के लिए बलिदान देने वाले सैनिकों को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है।

Kargil Vijay Diwas 2022: 26 जुलाई को 23 साल पहले पाकिस्तान की हुई थी हार, यहां पढ़ें ऑपरेशन विजय का इतिहास
X

26 जुलाई 1999 (26 July 1999) को करीब दो महीने से ज्यादा वक्त तक चले भारत और पाकिस्तान (India and Pakistan) के बीच युद्ध की 23वीं वर्षगाठ मनाई जा रही है। कहते हैं कि 26 जुलाई वो तारीख थी, जब भारत ने पाकिस्तान के कब्जे वाले सारे इलाकों में खुद का कब्जा कर लिया था। इस दिन युद्ध समाप्त होने के बाद हर साल इस खास दिन को कारगिल विजय दिवस (Kargil Vijay Diwas) के रूप में मनाया जाता है।

कारगिल विजय दिवस का दिन देश के लिए बलिदान देने वाले सैनिकों को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है। वैसे तो कारगिल युद्ध की शुरुआत 3 मई 1999 को हो गई थी। जो 14 जुलाई तक चला था। इस युद्ध में 562 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। जबकि भारत से ज्यादा नुकसान पाकिस्तान का हुआ था। पाकिस्तान के 3 हजार से ज्यादा सैनिक मारे गए थे और साथ ही कई आतंकवादी भी मारे गए थे। जिन्हें पाकिस्तान ने वापस लेने से मना कर दिया था।

आखिर क्यों हुआ था भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध?

बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बीच यह युद्ध 73 दिनों तक चला था। जिसे 'ऑपरेशन विजय' के नाम से जाना जाता है। पाकिस्तानी सेना और आतंकवादियों ने भारत-पाकिस्तान सीमा को पार किया और भारत की धरती पर बंकर बनाए। तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल परवेज मुशर्रफ ने पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को बिना बताए कारगिल में घुसपैठ कर दी। कारगिल की ऊंची पहाड़ियों पर पाकिस्तानी सैनिकों ने कब्जा कर लिया। इसके बाद भारतीय सेना ने मोर्चा संभालते हुए पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब दिया था।

ऑपरेशन विजय का इतिहास

कहते हैं कि 5 मई 1999 को भारतीय सेना के जवानों को कारगिल के इलाके में घुसपैठ की सूचना के बाद वहां भेजा गया। इस पर पाकिस्तानी सैनिकों ने हमला किया था, जिसमें 5 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद 8 मई को पाकिस्तानी सैनिकों ने कारगिल की ऊंची चोटियों पर कब्जा किया। 10 मई के बाद भारत की सेना ने ऑपरेशन विजय शुरू किया और भारी संख्या में जवान कारगिल पहुंचे। 73 दिनों तक चले युद्ध के दौरान 20 जून 1999 को भारतीय सेना ने टाइगर हिल के पास कुछ प्वाइंट्स पर घुसपैठियों को खदेड़ दिया। इसके बाद पाकिस्तान झुका और 14 जुलाई को भारतीय प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने सेना के ऑपरेशन विजय के सफल होने की जानकारी देश को दी। 26 जुलाई को भारतीय सेना ने पाकिस्तान द्वारा कब्जे करने वाले सभी इलाकों में तिरंगा लहराया और ये युद्ध सफलता के साथ जीता।

और पढ़ें
Next Story