Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कन्नौज बस हादसा: जब गाड़ी का दरवाजा बना लोगों के लिए यमराज, ऐसे बचाई जान

उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले के देवर सड़क हादसे में 25 लोगों की मौत हो गई। हादसे में बचे एक चश्मदीद फरुखाबाद के उगरापुर गांव निवासी सिलाई कारीगर छम्मी ने पूरी कहानी बताई है।

कन्नौज बस हादसा: जब गाड़ी का दरवाजा बना लोगों के लिए यमराज, ऐसे बचाई जानकन्नौज बस हादसा

उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले के देवर सड़क हादसे में 25 लोगों की मौत हो गई। जब एक डबल डेकर बस ट्रक से टकरा गई। इस हादसे में कई ऐसे लोगों की जान चली गई जो अपनी मंजिल के लिए जा रहे थे। एक परिवार बेटी की शादी में जा रहा था तो वहीं आग लगने के बाद एक मासूम खिड़की से नहीं निकलने की वजह से जल गया।

इस हादसे को लेकर एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है कि जब बस की टक्कर हुई तो आगे बैठे यात्री तो बस से निकल गए, लेकिन पीछे बैठे यात्री हादसे का शिकार हो गए। इसकी वजह गाड़ी का दरवाजा नहीं खुलना बताया जा रहा है।

इस हादसे में बचे एक चश्मदीद फरुखाबाद के उगरापुर गांव निवासी सिलाई कारीगर छम्मी ने बताया कि फरुखाबाद से बस में 60 लोग चढ़े थे। इसी दौरान छिबरामऊ के पास बस की टक्कर हुई, तो सभी की नींद खुल गई। लेकिन उस वक्त भी बस के गेट बंद थे।

टक्कर के बाद भी ड्राइवर ने गेट नहीं खोला। लेकिन जब आग लगी तो आगे बैठे यात्रियों ने शोर मचाया और वो बाहर निकल गए। इसी बीच आग ने बस के अगले हिस्से को चपेट में ले लिया। लेकिन पीछे बैठे लोगों को बस से बाहर निकलने का रास्ता नहीं मिला और वो बस के शीशे तोड़ कर बाहर निकले और कुछ लोगों ने अपने आप को बचाया।

एक चश्मदीद ने बताया कि आग को देख कुछ लोगों ने बैग व अटैची से गाड़ी के शीशे तोड़ दिए। दो युवतियां भी कूदकर निकलीं। बाहर निकल चुके एक व्यक्ति ने उसे उतरने में मदद की।

Next Story
Top