Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Kamlesh Tiwari Murder : हत्या में आया नया मोड़, ISIS के निशाने पर थे कमलेश तिवारी

कमलेश तिवारी ने मई 2018 में अपनी जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा की मांग की थी। एटीएस की चार्जशीट में इस बात का जिक्र भी किया गया था। पकड़े गए दो संदिग्धों में से एक ने मोबाइल से कमलेश का वीडियो दिखाते हुए कहा था कि इसे मारना है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट का दावा चाकू से किए गए 15 घावपोस्टमार्टम रिपोर्ट का दावा चाकू से किए गए 15 घाव

दिन दहाड़े हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी की हत्या कर दी गई। जांच में जुटी पुलिस को सीसीटीवी फुटेज में दो संदिग्ध व्यक्ति दिखे हैं। इस बीच हत्या में नया मोड़ सामने आया है। बताया जा रहा कि तिवारी आतंकवादी संगठन आईएसआईएस की हिट लिस्ट में थे।

कमलेश तिवारी ने मई 2018 में अपनी जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा की मांग की थी। एटीएस की चार्जशीट में इस बात का जिक्र भी किया गया था। पकड़े गए दो संदिग्धों में से एक ने मोबाइल से कमलेश का वीडियो दिखाते हुए कहा था कि इसे मारना है। यह खबर टाइम्स ऑफ इंडिया (TOI) में भी छपी थी।

क्या था मामला

अहमदाबाद पुलिस ने वर्ष 2018 में आईएसआईएस के दो संदिग्धों को अंकलेश्वर से गिरफ्तार किया था। अंकलेश्वर कोर्ट में दाखिल की गई चार्जशीट के अनुसार उनके पास से हथियार मिले थे। उन्होंने पूछताछ में कबूला था कि वह भारत में ज्यूस बिरादरी और विदेशियों पर हमले के इरादे से भेजे गए थे।

उबैद मिर्जा और काशिम सिंबरवाला नामक इन्ही दो आंतकियों से कमलेश को मारने की जानकारी सामने आई थी। एटीएस की कोर्ट में फाइल की गई चार्जशीट में इस बात का जिक्र है कि मिर्जा ने मोबाइल से कमलेश का वीडियो दिखाते हुए कहा था कि इसे मारना है।


Next Story
Share it
Top