Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बड़ी खबर: कमलेश तिवारी मर्डर केस में मुख्य आरोपी अशफाक-मुईनुद्दीन गिरफ्तार, यूपी पुलिस रिमांड पर लेकर कर रही पूछताछ

उत्तर प्रदेश में हिंदू महासभा के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या में फरार चल रहे मुख्य आरोपी अशफाक और मुईनुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया है। यूपी पुलिस अब रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है।

-->
बड़ी खबर: कमलेश तिवारी मर्डर केस में मुख्य आरोपी अशफाक-मुईनुद्दीन गिरफ्तार, यूपी पुलिस रिमांड पर लेकर कर रही पूछताछगुजरात एटीएस की ओर से गिरफ्तार किए गए कमलेश तिवारी के मुख्य हत्यारे

उत्तर प्रदेश में हिंदू महासभा के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या में फरार चल रहे दोनों आरोपियों को गुजरात की एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों के नाम अशफाक और मुईनुद्दीन है। यूपी पुलिस अब मुख्य आरोपियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है।

लखनऊ में कमलेश तिवारी की हत्या करने वाले आरोपी अशफाक और मोइनुद्दीन को गुजरात एटीएस ने शाम को गिरफ्तार किया है। इन दोनों ने ही कमलेश तिवारी को बार-बार चाकू मारा था। तीनों आरोपियों ने जिस तरीके से हत्या को अंजाम दिया। पुलिस का मानना है कि अपराधी एक संदेश भेजना चाहते थे। पुलिस ने अशफाक हुसैन और मोइनुद्दीन पठान को मास्टरमाइंड कहा था।

यूपी पुलिस को मिली चार दिन की रिमांड

चारों आरोपियों को गुजरात से यूपी लाया गया है। कानूनी कार्रवाई पूरी करने के बाद गुजरात एटीएस ने दोनों आरोपियों को यूपी पुलिस को सौंपा। जिसके बाद यूपी लाकर कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उन्हें चार दिन की रिमांड पर यूपी पुलिस को दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक रिमांड में मुख्य आरोपियों की मदद करने वालों के नामों का भी खुलासा हो सकता है। क्योंकि आरोपी पांच हजार रुपये किराए पर कार लेकर आए थे।

इसलिए दिया घटना को अंजाम

मिली जानकारी के मुताबिक अशफाक, रोहित तो मोइनुद्दीन संजय बनकर कमलेश तिवारी से बातचीत करने के लिए पहुंचा था। दोनों आरोपियों ने हत्या करने की बात को स्वीकार कर लिया है। आरोपियों ने बताया कि उन्होंने इस वारदात को कमलेश तिवारी के मुहम्मद पैगम्बर को लेकर दिए गए बयान के बाद किया है।

कार को 5 हजार रुपए में किया था बुक

कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में इससे पहले एसटीएफ इनोवा कार जब्त की थी। साथ ही ड्राइवर को भी हिरासत में लिया था। इस कार को कातिलों ने लखीमपुर में पलिया से शाहजहांपुर तक जाने के लिए इसे बुक किया था। सूत्रों के मुताबिक कार के ड्राइवर ने खुलासा किया है कि कार को उसके मालिक के एक रिश्तेदार ने गुजरात से 5 हजार रुपए में बुक किया था। ऐसा माना गया है कि कमलेश तिवारी के कातिल इसी इनोवा कार से लखीमपुर से शाहजहांपुर गए। जहां सोमवार को एक सीसीटीवी कैमरे में उन्हें बस स्टेशन की तरफ जाते हुए देखा गया।

2.5-2.5 लाख रुपये का था इनाम

कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले की जांच कर रही उत्तर प्रदेश पुलिस की एसआइटी ने दोनों आरोपियों पर 2.5-2.5 लाख रुपए का इनाम घोषित किया था। एसआइटी के द्वारा इनके स्केच भी जारी किए थे।।


Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top