Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चेन्नई में जेपी नड्डा बोले- PM मोदी चाहते हैं तमिलनाडु विकास की छलांग लगाए

पीएम मोदी ये चाहते हैं की पूरा देश आगे बढ़े। लेकिन, वे चाहते हैं तमिलनाडु विकास की छलांग लगाए। तमिलनाडु में एक समृद्ध संस्कृति है और यह 'भक्ति' का एक स्थान है। इससे पहले भाजपा के प्रदेश पदाधिकारियों ने जेपी नड्डा का एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत किया।

चेन्नई में जेपी नड्डा बोले- PM मोदी चाहते हैं तमिलनाडु विकास की छलांग लगाए
X

जेपी नड्डा, फोटो एएनआई

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा आज चेन्नई दौरे पर हैं। यहां पर जेपी नड्डा पोंगल फेस्टिवल पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। जेपी नड्डा ने शाम चेन्नई में भाजपा के पोंगल फेस्टिवल को संबोधित करते हुए कहा कि यह एक ऐसा स्थान है जहां धार्मिक भावनाओं और धार्मिक नेताओं द्वारा संतों का ख्याल रखा गया है।

पीएम मोदी ये चाहते हैं की पूरा देश आगे बढ़े। लेकिन, वे चाहते हैं तमिलनाडु विकास की छलांग लगाए। तमिलनाडु में एक समृद्ध संस्कृति है और यह 'भक्ति' का एक स्थान है। इससे पहले भाजपा के प्रदेश पदाधिकारियों ने जेपी नड्डा का एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत किया।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि इस साल तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। इसे देखते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी तमिलनाडु पहुंचे। त्योहार के मौके पर यहां पहुंचना भावी सियासी बिसात का संकेत दे रहा है।

राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

यहां पर राहुल गांधी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि राहुल गांधी ने कहा कि सरकार सिर्फ किसानों को नजरअंदाज ही नहीं कर रही बल्कि वो उन्हें बर्बाद करने की साजिश भी कर रही है क्योंकि वो अपने दो-तीन दोस्तों को लाभ पहुंचाना चाहते हैं। वो किसानों की जमीन, उनकी उपज लेकर उसे अपने दो-तीन दोस्तों को देना चाहते हैं।

आप किसानों को दबा रहे हो, मुट्ठी भर उद्योगपतियों की मदद कर रहे हो, जब कोरोना आता है तब आप आम आदमी की मदद नहीं करते। आप किसके प्रधानमंत्री हैं, भारत के लोगों के या दो-तीन बिजनेसमैन के? चीन हमारे क्षेत्र में क्या कर रहा है। किसान जो कर रहे हैं मुझे उस पर गर्व है और मैं उनका पूरा समर्थन करता हूं।

सरकार को ये कानून वापस लेने पड़ेंगे, मैंने जो कहा उसे याद रखना। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है कि वह किसानों के साथ हैं और उनकी हर मांग का समर्थन करते हैं। जिन कानूनों को केंद्र की मोदी सरकार जबरदस्ती लाई है, उन्हें वापस ले जाना ही होगा।

Next Story