Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

West Bengal: जेपी नड्डा बोले- हर फेज में भाजपा की जीत हो रही और सीएम ममता की बौखलाहट बढ़ रही

ममता जी को मैं साफ शब्दों में कहना चाहता हूं कि बंगाल की जनता अब डरने वाली नहीं है। बंगाल की जनता आपकी तानाशाही से निजात चाहती है और आने वाले वाले समय में सातवें और आठवें फेज में वो निर्णायक लड़ाई लड़ेगी।

West Bengal: जेपी नड्डा बोले- हर फेज में भाजपा की जीत हो रही और सीएम ममता की बौखलाहट बढ़ रही
X

जेपी नड्डा

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने रविवार को वर्चुअल सभा को संबोधित करते हुए पश्चिम बंगाल की ममता सरकार पर हमला बोला है। जेपी नड्डा ने वर्चुअल सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बंगाल चुनाव में जिस तरह से लोगों का आपार जनसमर्थन भाजपा को मिल रहा है और भाजपा के समर्थन से हर फेज में भाजपा की जीत हो रही है, वैसे-वैसे ममता जी की बौखलाहट बढ़ रही है।

ममता जी को मैं साफ शब्दों में कहना चाहता हूं कि बंगाल की जनता अब डरने वाली नहीं है। बंगाल की जनता आपकी तानाशाही से निजात चाहती है और आने वाले वाले समय में सातवें और आठवें फेज में वो निर्णायक लड़ाई लड़ेगी। दीदी कहती हैं कि वह बंगाल की बेटी हैं, लेकिन शोवा मजुमदार थीं। उसे अपने बेटे की जान बचाने के लिए अपनी जान देनी पड़ी। माँ के लिए चिंता कहाँ थी?

जेपी नड्डा ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने हमेशा देश के गरीबों की चिंता की है। कोरोना जैसे वैश्विक महामारी में भी 80 करोड़ की जनता के लिए पांच किलो अनाज देने की व्यवस्था की थी और फिर से इस योजना को आगे बढ़ाया है। यूपीए के दौरान, बंगाल को राज्य के विकास के लिए 1.32 लाख करोड़ रुपये मिले थे।

जब बीजेपी सत्ता में आई तो बंगाल के लिए 4.48 लाख करोड़ दिए। 53 रेलवे परियोजनाओं के लिए बंगाल को 48,000 करोड़ रुपये प्रदान किए गए हैं। हावड़ा, मधुग्राम और न्यू टाउन को 3 सौर परियोजनाएं भी प्रदान की गई हैं। बंगाल में 21 लाख लोग सामाजिक सुरक्षा योजनाओं से जुड़े हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इसके अलावा जेपी नड्डा ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कह रही हैं कि वैक्सीन नहीं मिल रही है। जनता के बीच विकास में रोड़ा नहीं बने. पिछले साल कोरोना फैल रहा था। उस समय सेंट्रल टीम भेजी थी. टीम को कैद कर लिया था. बाहर नहीं निकलने दिया गया था. यदि वैक्सीनेशन की कमी है, तो यह आंकड़े कहां से भेज रही हैं कि इतने वैक्सीनेशन हो गए?

Next Story