Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कांग्रेस के पूर्व महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने पार्टी नेतृत्व पर उठाया सवाल, बोले- अंदर के लोगों के वजह से हारी कांग्रेस

सोनिया गांधी के बेहद करीबी माने जाने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पार्टी के पूर्व महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने कहा जिस पार्टी के लिए मैनें अपना पूरा जीवन लगा दिया, आज उसकी हालात देखकर मुझे चिंता हो रही है। उन्होंने कहा कि पार्टी अंदर के लोगों के कारण ही हारी है। उन्होंने कहा कि पार्टी बैठक में कई ऐसी बातें होती थी जिससे मैं कभी सहमत नहीं रहा, अपनी असहमति की बातों को मैनें पार्टी के समक्ष रखा भी लेकिन किसी ने नहीं गौर किया।

कांग्रेस के पूर्व महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने पार्टी नेतृत्व पर उठाया सवाल, बोले- अंदर के लोगों के वजह से हारी कांग्रेसJanardan Dwivedi Congress Sonia Gandhi Rahul Gandhi Congress leadership

सोनिया गांधी व राहुल गांधी के बेहद करीबी माने जाने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पार्टी के पूर्व महासचिव जनार्दन द्विवेदी (Janardan Dwivedi) ने कहा जिस पार्टी के लिए मैनें अपना पूरा जीवन लगा दिया, आज उसकी हालात देखकर मुझे चिंता हो रही है। उन्होंने कहा कि पार्टी अंदर के लोगों के कारण ही हारी है। पार्टी बैठक में कई ऐसी बातें होती थी जिससे मैं कभी सहमत नहीं रहा, अपनी असहमति की बातों को मैनें पार्टी के समक्ष रखा भी लेकिन किसी ने नहीं गौर किया।

उन्होंने कहा कि आर्थिक आरक्षण का मुद्दा ऐसा था जिस पर मैनें अध्यक्ष को बताया था कि इस मुद्दे पर मैं सहमत नहीं हूं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पार्टी अध्यक्ष द्वारा कुछ संवैधानिक तंत्र का गठन किया जाना चाहिए, जिसके तहत कार्यसमिति के सदस्यों की राय ली जा सके और सभी की बातों को सुना जा सके। द्विवेदी ने कहा कि जल्द ही कार्यसमिति की बैठक बुलाई जानी चाहिए और जल्द से जल्द कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष की घोषणा करनी चाहिए।

मालूम हो कि कांग्रेस के पूर्व महासचिव जनार्दन द्विवेदी काफी लंबे समय तक पार्टी के महासचिव पद पर रहे हैं। साल 2018 में उन्होंने अपनी स्वेच्छा से राजनीति से सन्यास ले लिया। द्विवेदी कांग्रेस के पांच अध्यक्षों के साथ काम किया है। वे इंदिरा, राजीव, नरसिम्हा राव और सोनिया गांधी के कार्यकाल में काम कर चुके हैं। वे राहुल व सोनिया के बेहद करीबी माने जाते हैं।

Share it
Top