Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जम्मू-कश्मीर: विपक्षी दलों के साथ राहुल गांधी श्रीनगर जा रहे, प्रशासन ने भेजा जवाब, जानें पूरा मामला

जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) में धारा 370 (Article 370) हटने के बाद हालात जायजा लेने के लिए आज विपक्षी दलों का एक प्रतिनिधिमंडल राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के साथ श्रीनगर जाएगा। इसमें सीपीआई एम, सीपीआई, आरजेडी, एनसीपी, टीएमसी और डीएमके दल के नेता दौरे के लिए जा रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर: विपक्षी दलों के साथ राहुल गांधी श्रीनगर जा रहे, प्रशासन ने भेजा जवाब, जानें पूरा मामला

जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटने के बाद हालात जायजा लेने के लिए आज विपक्षी दलों का एक प्रतिनिधिमंडल राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के साथ श्रीनगर जाएगा। खबर है कि श्रीनगर एयरपोर्ट ने प्रतिनिधिमंडल को जाने की इजाजत नहीं दी है। नौ विपक्षी दलों का एक प्रतिनिधिमंडल आज जम्मू और कश्मीर का दौरा करने जा रहा है। इसमें सीपीआई एम, सीपीआई, आरजेडी, एनसीपी, टीएमसी और डीएमके दल के नेता दौरे के लिए जा रहे हैं। इस प्रतिनिधिमंडल में गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, राहु गांधी और अन्य नेता जाएंगे।

9 दलों का प्रतिनिधिमंडल जाने को तैयार

लेकिन वहीं दूसरी तरफ राज्य प्रशासन ने उन्हें राज्य का दौरा करने और आने के लिए मना किया है। प्रशासन ने कहा कि आपके दौरे से यहां असुविधा हो सकती है। वहीं इससे पहले कई गुलाम नबी आजाद अकेले कश्मीर दौरे पर गए थे। लेकिन एयरपोर्ट पर ही उन्हें हिरासत में ले लिया गया। जिसके बाद उन्हें श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस भेज दिया।


सरकार ने किसी भी राजनीतिक नेता को राज्य में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी है क्योंकि केंद्र ने जम्मू और कश्मीर को विशेष दर्जा हटने के बाद से ही पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती सहित क्षेत्रीय दलों के नेता अभी भी नजरबंद हैं।

जम्मू-कश्मीर सरकार का बयान

जम्मू और कश्मीर से प्रशासन ने एक बयान जारी कर कहा कि राजनीतिक नेताओं से घाटी का दौरा नहीं करने को कहा है। उनके आने से घाटी में अशांति और लोगों को असुविधा होगी। प्रशासन ने राजनेताओं की यात्रा पर घाटी के कई क्षेत्रों में प्रतिबंध लगाए हैं।

केंद्र सरकार ने भेजा विशेष प्रतिनिधिमंडल

धारा 370 हटने के बाद राज्य के हालात का जायजा लेने के लिए लगभग 18 दिनों के बाद केंद्र सरकार ने विशेष प्रतिनिधिमंडल भेजा है। जो खुफिया अधिकारियों सहित एक केंद्रीय टीम पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती सहित क्षेत्रीय नेताओं के पास पहुंची। जो अभी नजरबंद किए गए हैं। आईबी और रॉ अधिकारियों वाली टीम ने नेताओं से मुलाकात की।


बांग्लादेश के बाद मालदीव का समर्थन

बांग्लादेश के बाद मालदीव ने कश्मीर पर 370 हटने के बाद भारत का समर्थन किया और पाकिस्तान से कहा कि जम्मू-कश्मीर की विशेष स्थिति को रद्द करने का भारत सरकार का आंतरिक मामला है। वहीं मालदीव ने दोनों देशों से अपने मतभेदों को सौहार्दपूर्वक हल करने का भी आग्रह किया।

Next Story
Share it
Top