Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आतंकी संगठनों के 50 टॉप कमांडर इस साल मारे गये, डीजीपी ने पाकिस्तान पर भी साधा निशाना

आतंक विरोधी कार्रवाई के मद्देनजर साल 2020 कामयाब साबित हुआ है। इस बात का दावा डीजीपी जम्मू-कश्मीर की ओर से किया गया है। उन्होंने बताया की इस वर्ष घाटी में आतंकी संगठनों के 50 टॉप कमांडरों को मार गिराया गया है। साथ ही डीजीपी द्वारा पाकिस्तान पर भी आतंकी गतिविधियों को लेकर निशाना साधा गया।

jammu and kashmir dgp dilbag singh says 50 top commanders of terrorist organizations were killed this year
X

जम्मू-कश्मीर डीजीपी दिलबाग सिंह

सुरक्षा की दृष्टि और आतंक विरोधी कार्रवाई के मद्देनजर साल 2020 कामयाब साबित हुआ है। इस बात का दावा जम्मू-कश्मीर डीजीपी दिलबाग सिंह की ओर से किया गया है। दिलबाग सिंह ने बताया कि साल 2020 सुरक्षा की दृष्टि से हमारे लिए कामयाब साल साबित हुआ। इस साल सवा दो सौ के करीब आतंकी अलग-अलग आतंक विरोधी कार्रवाई में खत्म हुए हैं। इस साल हमने आतंकियों के सफाए के लिए 103 ऑपरेशन किए। हमने इस साल आतंकी संगठनों के 50 टॉप कमांडरों को मार गिराया है।

दिलबाग सिंह ने बताया कि आतंकी नेटवर्क को चलाने वाले 600 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया। आतंकियों को मदद पहुंचाने वाले 36 माड्यूल को पकड़ा गया। डीजीपी ने बताया कि काफी ज्यादा लोग पीएसए (PSA) के तहत भी अरेस्ट किए गए। उन्होंने यह भी बताया कि पाकिस्तान द्वारा सीजफायर का उल्लंघन कर आतंकियों को इस पार भेजने की कोशिशों को भी नाकाम किया गया।

दिलबाग सिंह ने यह भी बताया कि 2018-19 के मुकाबले इस साल आतंकवाद से संबंधित घटनाओं में बड़ी गिरावट देखने को मिली है। पिछले साल आतंकवादियों ने 44 बेगुनाह लोगों की जान ली थी जिनकी संख्या इस साल 38 है। पाकिस्तान के इशारे पर आतंकी अभी भी नागरिकों को निशाना बना रहे हैं।

दिलबाग सिंह ने बताया कि 2019 के मुकाबले इस साल टेररिस्ट रैंक्स में शामिल होने वालों की संख्या थोड़ी ज्यादा रही। सकारात्मक पहलू यह है कि उनमें से 70 प्रतिशत लोग ज्वाइन करने के बाद मारे गए या गिरफ्तार किए गए।

Next Story