Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रावलपिंडी में जैश और ISI की बैठक, अलर्ट पर भारत की खुफिया एजेंसियां

बालाकोट हवाई हमले के बाद अम्मार ने एक ऑडियो जारी किया था। इस ऑडियो में इंडियन एयरफोर्स के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को रिहा करने को लेकर पाकिस्तान के पीएम इमरान खान की आलोचना और आईएएफ द्वारा जैश के तालीम-उल-कुरान मदरसा को निशाना बनाने का बदला लेने की बात कही गई थी।

काबुल विश्वविद्यालय में आतंकियों ने क्लास में घुसकर की गोलीबारी, कई छात्रों की मौत
X
आतंकी

जैश-ए-मोहम्मद और आईएसआई के बीच रावलपिंडी में हुई बैठक के बाद से भारतीय खुफिया प्रतिष्ठान हाई अलर्ट पर हैं। बताया जा रहा है कि 20 अगस्त को हुई इस बैठक में जैश-ए-मोहम्मद के 'अमीर' मौलाना अब्दुल रऊफ अशगर और आईएसआई के दो शीर्ष अधिकारी शामिल हुए। एक गुप्त खुफिया नोट से मालूम हुआ है इस बैठक में अशगर का भाई मौलाना अम्मार भी शामिल था।

जानकरी के लिए आपको बता दें, बालाकोट हवाई हमले के बाद अम्मार ने एक ऑडियो जारी किया था। इस ऑडियो में इंडियन एयरफोर्स के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को रिहा करने को लेकर पाकिस्तान के पीएम इमरान खान की आलोचना और आईएएफ द्वारा जैश के तालीम-उल-कुरान मदरसा को निशाना बनाने का बदला लेने की बात कही गई थी।

सूत्रों के मुताबिक, एक वरिष्ठ खुफिया अधिकारी ने बताया रावलपिंडी की बैठक इस्लामाबाद में जैश मरकज की एक मंडली द्वारा आयोजित की गई थी। उन्होंने बताया कि इस मीटिंग में जैश के ऑपरेशनल कमांडर मुफ्ती अशगर खान कश्मीरी और कारी जरीर ने भारत पर हमले तेज करने के लिए अपनी योजना के अंतिम चरण की बातचीत की।

सूत्र के मुताबिक, महत्वपूर्ण है क्योंकि जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में हमले से एक महीने पहले भी इन्हीं लोगों ने एक मीटिंग की थी। गुरिल्ला का पूर्व कमांडर अशगर कश्मीरी, मजलिस-ए-शूरा का पूर्व सदस्य है, हरकतुल मुजाहिद्दीन है, जो बाद में मुजाहिद्दीनों की अपनी टीम के साथ जैश में शामिल हो गया था।


Next Story