Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Ishrat Jahan Encounter: कोर्ट ने इशरत जहां को बताया लश्कर का आंतकी, क्राइम ब्रांच के तीन अधिकारी बरी

गुजरात में सीबीआई कोर्ट ने सुनवाई के दौरान इशरत जहां को आतंकी बताया और एनकाउंटर में आरोप बने तीन पुलिस कर्मियों को बरी कर दिया।

Ishrat Jahan Encounter: कोर्ट ने इशरत जहां को बताया लश्कर का आंतकी, क्राइम ब्रांच के तीन अधिकारी बरी
X

अहमदाबाद की सीबीआई स्पेशल कोर्ट ने इशरत जहां एनकाउंटर केस (Ishrat Jahan Encounter) में अहम फैसला सुना दिया। इस मामले में कोर्ट ने इशरत जहां को आतंकवादी बताया और क्राइम ब्रांच के तीनों अधिकारियों को बरी कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सीबीआई कोर्ट ने सुनवाई के दौरान इशरत जहां को आतंकी बताया। कोर्ट ने साफ कहा कि इशरत आतंकी थी। इस बात से हम इंकार नहीं कर सकते हैं। लश्कर ए तैयबा की आंतकी थी। कोर्ट ने तरुण बारोट, अंजु चौधरी और गिरिश सिंघल को एनकाउंटर मामले में बरी कर दिया।

कोर्ट ने कहा कि खुफिया रिपोर्ट को झूठा नहीं कहा जा सकता है। इसी वजह से तीनों अधिकारियों को बरी किया जाता है। इन तीन क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने आईबी से मिले इनपुट के आधार पर कार्रवाई की थी। जिसके बाद एनकाउंटर हुआ।

कोर्ट ने यह भी कहा कि आरोपी पुलिसकर्मी अपने कर्तव्य का निर्वहन कर रहे थे और इस बात का पर्याप्त सबूत था कि इशरत जहां और तीन अन्य लोग मुठभेड़ में मारे गए। जो आतंकवादी थे। कोर्ट ने यह भी कहा कि फर्जी का कोई सवाल ही नहीं है। आरोपी पुलिसकर्मियों की मुठभेड़ इनपुट के आधार पर हुई। उसे आप फर्जी कैसे कर सकते हैं। आदेश के साथ सभी आरोपी पुलिसकर्मियों को सीबीआई कोर्ट ने बरी कर दिया। जिन्हें सीबीआई ने गिरफ्तार किया था।

जानकारी के लिए बता दें कि साल 2004 में इशरत जहां और साथी जावेद शेख, अमजद अली और जीशान जौहर को मुठभेड़ में मार गिराया था। इस मामले में पीपी पांडे, डी जी बंजारा और एनके अमीन को भी आरोपी बनाया गया था। इन तीनों को कोर्ट पहले ही बरी कर चुकी है।

Next Story