Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना से बाजार में उतार-चढ़ाव का माहौल, निवेश 11 महीने के निचले स्तर पर

कोरोना के दौर में सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के माध्यम से म्यूचुअल फंड में निवेश मई में गिरकर 8,123 करोड़ रुपये हो गया, जो पिछले 11 महीनों में सबसे कम था।

कोरोना से बाजार में उतार-चढ़ाव का माहौल, निवेश 11 महीने के निचले स्तर पर
X

कोरोना महामारी का आम जनता के साथ बाजार की आर्थिक स्थिति पर प्रभाव पड़ रहा है। बाजार में पिछले कुछ महीनों से लगातार उतार-चढ़ाव का माहौल देखने को मिल रहा है। वहीं, सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के जरिए म्यूचुअल फंड में निवेश मई में गिरकर 8,123 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले 11 महीनों में सबसे कम था।

हालांकि, यह लगातार 18 वां महीना था, जब निवेश में निवेश 8,000 करोड़ रुपये से ऊपर रहा। भारतीय म्यूचुअल फंड संघ (एम्फी) के रिपोर्ट के मुताबिक म्यूचुअल फंड उद्योग ने पिछले महीने सिप के जरिए 8,123 करोड़ रुपये जुटाए थे।

जबकि अप्रैल महीने में 8,376 करोड़ रुपये था। वहीं, मई में सिप के जरिए 8,183 करोड़ रुपये का निवेश किया गया था। एम्फी के आंकड़ों के मुताबिक मई 2020 में सिप के जरिए निवेश जून 2019 के बाद सबसे कम था।

इक्विटी म्यूचुअल फंड्स में निवेश, जो मुख्य रूप से सिप पर निर्भर है, मई में 5,256 करोड़ रुपये रहा, जो पांच महीने में सबसे कम है। बाजार विशेषज्ञों के अनुसार, कोरोन वायरस की महामारी के कारण बाजार में उतार-चढ़ाव और आर्थिक अनिश्चितता के कारण एसआईपी में निवेश में कमी देखने को मिली।

उन्होंने कहा कि एसआईपी अभी भी खुदरा निवेशकों के लिए म्युचुअल फंड में निवेश करने के लिए उच्च स्तर पर बना हुआ है। इसका कारण है कि यह उन्हें बाजार के जोखिमों को कम करने में मदद करता है।

Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story