Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

International Yoga Day 2019: जानिए अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का इतिहास, ये है 21 जून की तारीख चुनने की वजह

भारत में योग के अभ्यास की परंपरा पांच हजार साल से भी पुरानी मानी जाती है। शरीर और आत्मा के बीच सामंजस्य बनाने के लिए इसे महत्वपूर्ण माना जाता है। योग के जरिए व्यक्ति ध्यान एकाग्र कर सकता है और स्वस्थ शरीर भी हासिल कर सकता है।

International Yoga Day on 21 JuneInternational Yoga Day on 21 June (Representational Image)

भारत में योग के अभ्यास की परंपरा पांच हजार साल से भी पुरानी मानी जाती है। शरीर और आत्मा के बीच सामंजस्य बनाने के लिए इसे महत्वपूर्ण माना जाता है। योग के जरिए व्यक्ति ध्यान एकाग्र कर सकता है और स्वस्थ शरीर भी हासिल कर सकता है। इस प्राचीन पद्धति के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए दुनियाभर में प्रत्येक साल 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है।

इसकी शुरूआत साल 2015 में हुई। वैसे तो योग के लिए किसी विशेष दिन की आवश्यकता नहीं है, इसे अभ्यास रोजाना किया जा सकता है लेकिन पिछले पांच साल से यह 21 जून को ही क्यों मनाया है, आइए इसके बारे में जानते हैं।

11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया था। इसका सुझाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिया था। संयुक्त राष्ट्र में भारत के तत्कालीन राजदूत अशोक मुखर्जी ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का प्रस्ताव पेश किया था। इसमें कॉ-स्पॉन्सर के तौर पर 177 देश शामिल हुए थे जो कि अबतक किसी भी महासभा के प्रस्ताव के लिए सबसे बड़ी संख्या है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने 2014 में संयुक्त राष्ट्र महासभा को अपने संबोधन के दौरान कहा कि यही वो दिन है जब उत्तरी गोलार्ध में साल का सबसे लंबा दिन होता है। इस दिन सूर्य जल्दी उगता है और सबसे देर में सूर्यास्त होता है। इसके अलावा भारत में 21 जून ग्रीष्मकालीन संक्रांति का दिन भी होता है।

संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव 69/131 ने माना कि योग स्वास्थ्य और कल्याण के लिए एक समग्र दृष्टिकोण प्रदान करता है। इसकी जानकारी के लिए व्यापक प्रसार से दुनिया के लोगों को स्वास्थ्य रहने में लाभ होगा। योग को 'ग्लोबल हेल्थ एंड फॉरेन पॉलिसी' (Global Health And Foreign Policy) के एजेंडे के तहत अपनाया गया।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की इस साल (2019) के लिए थीम 'क्लाइमेट एक्शन' (Climate Action) है। यह योगगुरुओं के साथ एक पैनल पर चर्चा के बाद सेलिब्रेट किया जाएगा।

संयुक्त राष्ट्र ने यह स्वीकार करते हुए कहा कि योग की लोकप्रियता दुनिया भर में बढ़ रही है। योग एक प्राचीन शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक अभ्यास है जिसकी उत्पत्ति भारत में हुई थी। शब्द 'योग' संस्कृत से निकला है और इसका मतबल जोड़ना और युनाइट होना होता है। यह शरीर और चेतना के मिलन का प्रतीक है।

Share it
Top