Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

दादा ने खरीदे 20 हजार के शेयर, पोता बना 13 कोरड़ का मालिक

अनंत रूपनगुडी (Ananth Rupanagudi) ने ट्विटर पर जी बिजनेस का एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें एक रवि नाम के शख्स ने जी बिजनेस चैनल से संपर्क किया और पूछा दादा जी ने 1990 में शेयर खरीदे थे।

ऐसी खबर अगर मेरे दादाजी ने कोमा से बाहर आने के बाद मुझे दी होती, तो मैं कोमा के अंदर चला गया होताinteresting shares news viral social media yashwant deshmukh

देश में इस समय एक सोशल मीडिया (Social Media) पर एक खबर तेजी से वायरल हो रही है। जिसपर सी-वोटर्स के यशवंत देशमुख (Yashwant Deshmukh) ने बड़ा ही मजेदार ट्वीट किया है। उनका ट्वीट भी तेजी से वायरल होने लगा है।

अनंत रूपनगुडी (Ananth Rupanagudi) ने ट्विटर पर जी बिजनेस का एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें एक रवि नाम के शख्स ने जी बिजनेस चैनल से संपर्क किया और पूछा दादा जी ने 1990 में शेयर खरीदे थे वह किस तरह से बेचे जाएंगे।

अनंत रूपनगुडी वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा कि 1990 से एक व्यक्ति दुर्घटना के कारण कोमा में था और 2017 में अचानक उसे होश आया और उसने अपने पोते को सूचित किया कि उसने 1990 में एमआरएफ के 20000 शेयर खरीदे हैं। उसके पोते ने इसकी कीमत जानने के लिए जी टीवी पर Zee Business से संपर्क किया था! अब इसे अपने लिए सुनो!

इसके बाद सी-वोटर्स के यशवंत देशमुख ने अनंत रूपनगुडी के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा कि ऐसी खबर अगर मेरे दादाजी ने कोमा से बाहर आने के बाद मुझे दी होती, तो दादा जी भले ही कोमा के बाहर आ गए होते, पर शेयर की वैल्यू पता चलने के बाद मैं कोमा के अंदर चला गया होता.... अब यह ट्वीट तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल खूब वायरल हो रहे हैं।

रवि के दादा के मुताबिक उन्होंने 1990 में एमआरएफ के 20,000 शेयर खरीदे थे, उस समय एक शेयर की कीमत 10 रुपए प्रति शेयर थी। पैरालिसिस होने की वजह से वह कोमा में चले गए। अब होश में आने के बाद इसकी जानकारी पोते रवि को दी। अब रवि करोड़पति बन गया है, क्योंकि अब एमआरएफ के एक शेयर की कीमत 65000 है। इस हिसाब से रवि अब 1300000000 (13 करोड़) रुपए का मालिक बन गया है।

Next Story
Share it
Top