Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत में प्राइवेट ट्रेन चलाने की तैयारी शुरू, जानें सबसे पहले किन रूट्स पर दौड़ेगी Private Trains

भारत में प्राइवेट ट्रेन चलाने की तैयारियां शुरू हो चुकी है। इसके लिए बुधवार को प्री-एप्लिकेशन मीटिंग हुई। इस मीटिंग के दौरान 16 प्राइवेट कंपनियों ने हिस्सा लेकर इसमें अपनी दिलचप्सी जाहिर की है।

भारत में प्राइवेट ट्रेन चलाने की तैयारी शुरू, जानें सबसे पहले किन रूट्स पर दौड़ेगी Private Trains
X
भारत में प्राइवेट ट्रेन चलाने की तैयारी शुरू, जानें सबसे पहले किन रूट्स पर दौड़ेगी Private Trains

भारत में प्राइवेट ट्रेन चलाने की तैयारियां शुरू हो चुकी है। इसके लिए बुधवार को प्री-एप्लिकेशन मीटिंग हुई। इस मीटिंग के दौरान 16 प्राइवेट कंपनियों ने हिस्सा लेकर इसमें अपनी दिलचस्पी जाहिर की है। रेल मंत्रालय और नीति आयोग ने इस मीटिंग में शामिल सभी 16 कंपनियों के सभी प्रश्नों के जवाब दिए।

ये कंपनियां आई सामने

प्राइवेट ट्रेन के लिए की गई इस पहली मीटिंग में 16 कंपनियों ने हिस्सा लिया। इन कंपनियों में बॉम्बार्डियर, कैप इंडिया, आई- स्क्वायर कैपिटल, आईआरसीटीसी, भेल, स्टर लाइट, मेधा, वेदांता, टेटला गर, बीईएमएल और आर के एसोसिएट्स शामिल थे।

मीटिंग से पहले अनुमान लगाए जा रहे थे कि टाटा और अडानी ग्रुप जैसी कंपनियां भी इसमें अपनी दिलचस्पी जाहिर करते हुए आगे आएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। बता दें कि सरकार चाहती है कि 2023 तक प्राइवेट ट्रेनों का काम पूरा हो जाए और वो पटरियों पर दौड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाए।

इन रूट्स पर दौड़ेगी ट्रेन

भारतीय रेलवे ने बेंगलुरु, चंडीगढ़, हावड़ा, जयपुर, पटना, प्रयागराज, सिकंदराबाद, चेन्नई रूट पर ट्रेन चलाने का फैसला किया है। इसके साथ ही ट्रेन चलाने के लिए दिल्ली और मुम्बई रूट को दो-दो ग्रुप में बांटा गया है। इस तरह से कुल 12 रूट पर ट्रेनें चलाई जाएंगी।

सूत्रों के मुताबिक प्राइवेट कंपनियां भारतीय रेलवे में 30 हजार करोड़ रूपये लगाएगी। जानकारी के मुताबिक, रेलवे ने प्राइवेट कंपनियों से कहा है कि इन रूट्स पर ट्रेनें चलाने से उन्हें करीब 20 प्रतिशत का फायदा होगा। लेकिन कंपनियों को निवेश करने से पहले कई सारी बातों का आकलन करना अभी बाकी है।

हालांकि 151 प्राइवेट ट्रेनें चलाने के लिए कंपनियों ने 2 लाख रुपए में एप्लिकेशन फॉर्म लेकर अपनी इच्छा जाहिर कर दी है। अनुमान लगाया जा रहा है कि 8 सितंबर तक कंपनियां आवेदन भी कर सकती है। बता दें कि मीटिंग की अगली तारीख 12 अगस्त की रखी गई है।

Next Story