Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारतीय रेलवे टिकट कैंसल करना पड़ रहा महंगा, आईआरसीटीसी वसूल रहा 25 रुपए चार्ज

रेलवे ने सरकार की घोषणा के मुताबिक 3 मई 2020 तक ट्रेनें निरस्त कर दी हैं, लेकिन टिकट कैंसिलेशन में आईआरसीटीसी की मनमानी यात्रियों पर भारी पड़ रही है।

Coronavirus Lockdown: IRCTC का बयान, रेलवे टिकट कैंसिल करोगे तो होगा नुकसान
X
IRCTC

लॉक-डाउन को 3 मई तक बढ़ाया जा चुका है। ऐसे में देशभर में इस समय रेल यातायात सहित परिवहन के सभी साधन बंद है। इस लॉक-डाउन की अवधि में पूर्व में जिन लोगों ने आॅनलाइन ट्रेन टिकट कराए थे। उनको कैंसिल कराने पर अब 10 से 25 रुपए तक की राशि काटी जा रही है। दरसअल, निरस्त टिकटों पर कन्वेंस फीस काटकर राशि लौटाई जा रही है। इससे जहां यात्रियों को इस संकट की घंटी में 10 से 25 रुपए तक फटका लग रहा है। तो वहीं आईआरसीटीसी की अच्छी खासी कमाई हो रही है।

जानकारी के अनुसार लॉकडाउन बढ़ने से रद्द हुई ट्रेन सेवा का खामियाजा यात्री भुगत रहे हैं। रेलवे ने सरकार की घोषणा के मुताबिक 3 मई 2020 तक ट्रेनें निरस्त कर दी हैं, लेकिन टिकट कैंसिलेशन में आईआरसीटीसी (इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉपोर्रेशन) की मनमानी यात्रियों पर भारी पड़ रही है। रेलवे ने 15 अप्रैल के बाद की तारीखों में आॅनलाइन ट्रेन बुकिंग की सुविधा शुरू की थी। टिकट विंडो खुली देखकर कई यात्रियों ने टिकट बुक करा लिए। इनमें कई लोग ऐसे थे, जो पहले लॉकडाउन में दूसरे शहरों में फंसे थे। इसी बीच सरकार ने लॉकडाउन बढ़ा दिया। रेलवे ने भी ट्रेनें रद्द कर दीं। आईआरसीटीसी ने अपनी वेबसाइट पर यह सूचना डाल दी कि यात्रियों को टिकट कैंसिल नहीं करना है। उन्हें पूरा किराया आॅटोमेटिक मिल जाएगा। यात्रियों को उम्मीद थी कि उन्हें पूरी राशि मिलेगी, लेकिन पता चला कि कन्वेंस फीस काटकर रुपए लौटाए गए हैं। इससे यात्रियों में नाराजगी है। आॅनलाइन टिकटों पर काटी जा रही इस राशि को लेकर यात्री कहां शिकायत दर्ज कराए इसको लेकर भी परेशान है। वहीं आईआरसीटीसी अफसरों का यह भी कहना है कि ट्रेनों को रद्द करने का फैसला रेलवे का है। पूरे पैसे के रिफंड की रियायत केवल रिजर्वेशन काउंटर के टिकटों पर ही है।

केस-1 भोपाल कटारा हिल्स निवासी दीपक भटनागर ने बताया कि वह किसी काम के सिलसिले में 19 मार्च को भीलवाड़ आए थे। 25 को उनको वापसी भोपाल आना था। उन्होंने इसके लिए आॅनलाइन टिकट कराई थी। इसबीच लॉक-डाउन लागू हो गया। टिकट निरस्त हो गई। आईआरसीटीसी ने 25 रुपए काटकर राशि वापिस कर दी। इसके बाद उन्होंने 16 अप्रैल की टिकट कराई। लेकिन लॉक-डाउन आगे बढ़ गया। इसबार भी आईआरसीटीसी ने 25 रुपए काटकर राशि वापिस कर दी।

Next Story