Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत को हथियारों का निर्यातक देश बनाने की दिशा में बड़ा कदम, भारतीय सेना 14,000 करोड़ रुपये में खरीदेगी यह मिसाइल और हेलीकॉप्टर

भारतीय सेना ने Make in India को बढ़ावा देने के लिए बड़ी डील फाइनल करने का फैसला लिया है। इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी कह चुके हैं कि भारत को आयतक नहीं, बल्कि शस्त्रों का निर्यातक देश बनाना चाहते हैं। पढ़िये यह रिपोर्ट...

भारत को हथियारों का निर्यातक देश बनाने की दिशा में बड़ा कदम, भारतीय सेना 14,000 करोड़ रुपये में खरीदेगी यह मिसाइल और हेलीकॉप्टर
X

आकाश मिसाइल। 

भारतीय सेना ने आत्मनिर्भर भारत (Make in India) को बढ़ावा देने के लिए 14 हजार करोड़ रुपये की बड़ी डील करने का निर्णय लिया है। इस धनराशि से भारतीय सेना आकाश-एस एयर डिफेंस मिसाइल (Akash missiles) सिस्टम की 2 रेजिमेंट और 25 उन्नत हल्के हेलिकॉप्टर (ALH) की खरीद करेगी। इसके लिए केंद्र सरकार (Modi Government) के पास प्रस्ताव भेजा जा चुका है।

न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार इंडियन आर्मी ने रक्षा मंत्रालय के पास 14 हजार करोड़ रुपये से आकाश-एस एयर डिफेंस मिसाइल (Akash missiles) सिस्टम की 2 रेजिमेंट और 25 उन्नत हल्के हेलिकॉप्टर (एएलएच) की खरीद का प्रस्ताव भेजा है। आकाश-एस मिसाइल एक नया संस्करण है।

यह 30 किलोमीटर दूर से ही दुश्मनों के विमान और क्रूज मिसाइल को निशाना बनाकर उन्हें ध्वस्त करने में सक्षम है। यह प्रणाली सर्दी, गर्मी समेत तमाम प्रकार के मौसम से भी बेअसर है। बता दें कि भारत डायनेमिक्स लिमिटेड (बीडीएल) ने भारतीय वायु सेना को आकाश मिसाइलों के निर्माण और आपूर्ति के लिए रक्षा मंत्रालय के साथ लगभग 499 करोड़ रुपये के अनुबंध पर हस्ताक्षर पर पिछले दिनों हस्ताक्षर किए थे।

पिछले दिनों रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी कहा था कि 2047 तक हमें 'एक भारत, श्रेष्ठ भारत', समृद्ध, आत्मनिर्भर, स्वाभिमानी भारत बनाना है, जो किसी अन्य देश पर हमला तो नहीं करेगा, लेकिन हमले की कोशिश करने वालों को मुंहतोड़ जवाब देगा। उन्होंने कहा था कि किसी वक्त भारत शस्त्रों का सबसे ज्यादा आयात करने वाला देश माना जाता था, लेकिन आज ऐसा नहीं है। हम आत्मनिर्भर भारत की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। हमें भारत को आयतक नहीं, बल्कि शस्त्रों का निर्यातक देश बनाना चाहते हैं।

Next Story