Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना वायरस काल में सेना प्रमुख की सुरक्षित यात्रा कवच बना एयर डॉक्टर, जानिए क्या है ये

अपनी यूनिफॉर्म की शर्ट में 'एयर डॉक्टर' नामक एक सेनेटाइजर पाउच की तरह दिखने वाले पर्सनल प्रोटेक्शन डिवाइस को पिन करके प्रयोग किया था। रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि इस सेनेटाइजर पाउच की खास बात यह है कि यह व्यक्ति के तीन फुट के दायरे में मौजूद सभी रोगाणुओं को नष्ट करके हवा को साफ-सुथरा बनाए रखता है।

केंद्र सरकार की मंजूरी मिलते ही भारतीय सेना करेगी PoK पर कब्जा : सेना प्रमुख
X
सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे

कोरोना संकट के इस दौर में सेनाप्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरावणे भी अच्छी-खासी सतर्कता बरत रहे हैं। इसका ताजा प्रमाण उनकी हालिया तेजपुर और लखनऊ स्थित सैन्य कमांड मुख्यालयों की दो दिवसीय यात्रा में देखने को मिला है, जिसमें उन्होंने अपनी यूनिफॉर्म की शर्ट में 'एयर डॉक्टर' नामक एक सेनेटाइजर पाउच की तरह दिखने वाले पर्सनल प्रोटेक्शन डिवाइस को पिन करके प्रयोग किया था। रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि इस सेनेटाइजर पाउच की खास बात यह है कि यह व्यक्ति के तीन फुट के दायरे में मौजूद सभी रोगाणुओं को नष्ट करके हवा को साफ-सुथरा बनाए रखता है।

अमेरिकन प्रोडक्ट

एयर डॉक्टर सेनेटाइजर अमेरिकी मूल की कंपनी ईकोशील्ड ने बनाया है। उसका दावा है कि इस पाउच को प्रयोग करने वाले व्यक्ति के तीन फुट के दायरे में संक्रमण फैलाने वाले रोगाणुओं को नष्ट करके हवा को साफ सुथरा बनाए रख सकता है। इसकी कुल अनुमानित कीमत 1500 रूपए है।

एक बार इसे एक्टिवेट करने के बाद पाउच से लगभग महीनेभर तक क्लोरीनडाइआक्साइड गैस निकलती है जो हवा में मौजूद सभी खतरनाक रोगाणुओं का सफाया कर देती है। क्लोरीनडाइआक्साइड गैस का बड़े पैमाने पर प्रयोग किया जाता है। पेपर इंडस्ट्री में ब्लीचिंग एजेंट, अस्पतालों में कीटाणुनाशक के रूप में और स्वीमिंग पुल में बायोसाइड के रूप में प्रयोग किया जाता है।

कोविड की वजह से बढ़ती मांग

अमेरिकी कंपनी ईकोशील्ड की तर्ज पर दुनिया की कई अन्य कंपनियां भी ऐसे सेनेटाइजर पॉउच बना रही हैं, जो हवा को साफ सुथरा बनाए रखते हैं। बीते जून महीने से देश में कियू जोकूगिकू नामक एक जापानी कंपनी भी इसी तरह का एक उत्पाद बनाकर बाजार में बेच रही है। इन कंपनियों का मानना है कि उक्त उत्पाद से हवा से होने वाले संक्रमण को खत्म किया जा सकता है, जिसमें इंफ्लूएंजा, कोल्ड एंड फ्लू, एलर्जी, एच1एन1, न्यूमोनिया, टीबी जैसे सांस संबंधी संक्रमणों से सुरक्षा मिलती है। लेकिन कोविड-19 को लेकर यह पुख्ता तौर पर कोई दावा नहीं कर रही हैं। अमेरिकी सुरक्षा मानकों के हिसाब से कार्यस्थल पर क्लोरीनडाइआक्साइड का सुरक्षित स्तर 0.1 पार्ट्स पर मिलियन (पीपीएम) और उद्योगों में यह 0.3 पार्ट्स पर मिलियन प्रति घन मीटर होना चाहिए।

Next Story