Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पेट्रोल-डीजल में बढ़ते दामों को लेकर लोकसभा में विपक्ष ने केंद्र को घेरा, की महंगाई पर...

देशभर में पेट्रोल (Petrol),डीजल (Diesel ) और रसोई गैस (LPG) की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ गुस्सा जाहिर करते हुए विभिन्न विपक्षी दलों(Opposition parties) के सदस्यों ने सोमवार को सरकार से लोकसभा में इस मुद्दे पर चर्चा करने और इसका जवाब देने और कीमतों में बढ़ोतरी को तत्काल वापस लेने की मांग की।

पेट्रोल-डीजल में बढ़ते दामों को लेकर लोकसभा में विपक्ष ने केंद्र को घेरा, की महंगाई पर...
X

देशभर में पेट्रोल (Petrol),डीजल (Diesel ) और रसोई गैस (LPG) की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ गुस्सा जाहिर करते हुए विभिन्न विपक्षी दलों(Opposition parties) के सदस्यों ने सोमवार को सरकार से लोकसभा में इस मुद्दे पर चर्चा करने और इसका जवाब देने और कीमतों में बढ़ोतरी को तत्काल वापस लेने की मांग की।

तृणमूल कांग्रेस ( Trinamool Congress) के नेता सुदीप बंदोपाध्याय (Sudip Bandopadhyay) ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi) से यह बताने का आग्रह किया कि कीमतों में बढ़ोतरी कब रुकेगी। शून्यकाल के दौरान इस मुद्दे को उठाते हुए सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury) ने कहा कि देश की जनता महंगाई से जूझ रही है, इसलिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने देश भर में 'महंगाई मुक्त भारत अभियान' (Dearness Free India Campaign) चलाने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा कि ऐसी खबरें हैं कि एक अप्रैल से 800 जरूरी दवाएं भी महंगी हो जाएंगी। चौधरी ने कहा कि सरकार "रूस-यूक्रेन संकट का झूठा हवाला दे रही है" मुद्रास्फीति के पीछे का कारण है, जबकि हमारा देश रूस से अपने तेल का केवल आधा प्रतिशत आयात करता है। उन्होंने कहा कि सरकार को पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की हाल ही में बढ़ी कीमतों को वापस लेना चाहिए और इस मुद्दे पर सदन में चर्चा करनी चाहिए।

द्रमुक नेता टीआर बालू ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में पेट्रोल-डीजल की कीमत में 4 रुपये प्रति लीटर से अधिक की वृद्धि हुई है, जो सरकार द्वारा लिया गया गलत फैसला है। तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने कहा कि पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोतरी से पूरा सदन चिंतित है। उन्होंने कहा, 'मुझे आशंका है कि देश में पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में बढ़ोतरी के मामले में भारत दुनिया के शीर्ष पर पहुंच सकता है।

उन्होंने कहा कि अगर यह सच है तो उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) के दौरान पेट्रोल-डीजल (Petrol, Diesel) के दाम कैसे नहीं बढ़े। उन्होंने कहा कि जनता को आशंका थी कि चुनाव परिणाम सामने आते ही कुछ दिनों में ये कीमतें बेतहाशा बढ़ जाएंगी और यह आशंका सच साबित हुई। उन्होंने कहा कि इस विषय पर कम से कम एक बार सदन में चर्चा होनी चाहिए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को बताना चाहिए कि पेट्रोल-डीजल के दाम किस हद तक बढ़ेंगे और कहां रहेंगे? उन्होंने कहा कि सरकार को सदन में इस मुद्दे को प्राथमिकता देनी चाहिए।

और पढ़ें
Next Story