Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केंद्र की विदेश नीति पर मनमोहन सिंह की टिप्पणी पर विदेश मंत्रालय का जवाब, कहा- यह स्पष्ट रूप से एक राजनीतिक संदेश

देश के पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने एक वीडियो संदेश के जरिए भाजपा (BJP) पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने केंद्र की नीतियों पर कई सवाल उठाए।

केंद्र की विदेश नीति पर मनमोहन सिंह की टिप्पणी पर विदेश मंत्रालय का जवाब, कहा- यह स्पष्ट रूप से एक राजनीतिक संदेश
X

देश के पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने एक वीडियो संदेश के जरिए भाजपा (BJP) पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने केंद्र की नीतियों पर कई सवाल उठाए। इस दौरान उन्होंने कि मोदी सरकार विदेश नीति के मामले में पूरी तरह विफल साबित हुई है। मनमोहन ने कहा चीनी सेना एक साल से अधिक समय से सीमा पर डेरा डाले हुए है और मोदी सरकार (Modi Government) लगातार इस मामले को दबाने की कोशिश कर रही है।

इस कड़ी में विदेश मंत्रालय की ओर से जवाब दिया गया है। विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) के प्रवक्ता अरिंदम बागची ( Arindam Bagchi) ने गुरुवार को कहा, "यह विशुद्ध रूप से, स्पष्ट रूप से एक राजनीतिक संदेश (Political Message) है, यह किसी नीति के तहत बयान नहीं दिया गया है। बागची ने कहा कि "जहां तक चीन का संबंध है, मामले के तथ्य स्पष्ट हैं।

मुझे उन्हें दोहराने की जरूरत नहीं है। हम चर्चा कर रहे हैं कि चीन के साथ बातचीत की प्रक्रिया क्या है। स्थिति कैसे उत्पन्न हुई है। मुझे लगता है कि हमने बार-बार ऐसा कहा है।" चीन पर मनमोहन सिंह की टिप्पणी तब आई जब भारत और बीजिंग में अप्रैल-मई 2020 से फिंगर क्षेत्र सहित कई क्षेत्रों में चीनी सेना द्वारा किए गए उल्लंघनों को लेकर गतिरोध बना हुआ है।

गलवान घाटी, हॉट स्प्रिंग्स, और कोंग्रुंग नाला। 14 दौर की सैन्य वार्ता के समापन के बाद, भारत और चीन ने दो परमाणु राष्ट्रों के बीच गतिरोध को हल करने के लिए पश्चिमी क्षेत्र में एलएसी पर जल्द से जल्द कमांडर स्तर(Commander level meeting) की बैठक आयोजित करने पर सहमति व्यक्त की थी।

और पढ़ें
Next Story