Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चीनी सैनिकों के साथ संघर्ष में शहीद हुए कर्नल संतोष बाबू की मां ने कहा, बेटे के खोने का गम लेकिन शहादत पर गर्व

शहीद और घायल हुए सैनिक बिहारी रेंजीमेंट के हैं। तेलंगाना निवासी शहीद कर्नल संतोष बाबू भारतीय टुकड़ी का नेतृत्व कर रहे थे।

चीनी सैनिकों के साथ संघर्ष में शहीद हुए कर्नल संतोष बाबू की मां ने कहा, बेटे के खोने का गम लेकिन शहादत पर गर्व
X

चीनी सैनिकों के साथ संघर्ष में शहीद हुए कर्नल संतोष बाबू की मां मंजुला ने बयान दिया है। उन्होंने कहा कि उन्हें अपना बेटा खोने का गम तो है, लेकिन देश के प्रति उनके उच्च बलिदान पर गर्व भी है। उधर, कर्नल बाबू ने अपने पिता के देश सेवा के सपने को भी साकार कर दिया। उनके पिता खुद सेना में भर्ती होकर देश सेवा करना चाहते थे।

शहीद कर्नल संतोष बाबू के पिता बी. उपेंद्र ने कहा मैं खुद सेना में जाना चाहता था। लेकिन मुझे सेना में नौकरी नहीं मिल सकी औरमुझे बैंक की नौकरी करनी पड़ी, इसलिए मैंने रिश्तेदारों की असहमति के बावजूद अपने बेटे को सेना में भेजा।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि शहीद और घायल हुए सैनिक बिहारी रेंजीमेंट के हैं। तेलंगाना निवासी शहीद कर्नल संतोष बाबू भारतीय टुकड़ी का नेतृत्व कर रहे थे। गलवन घाटी में चीनी सैनिकों के सथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 सैनिक शहीद हुए हैं। वहीं इस लड़ाई में चीन के भी 40 से अधिक सैनिकों के मारे और घायल होने की खबर सामने आयी है।

Next Story